शिक्षक भर्ती के ऑनलाइन आवेदन में खामियों की भरमार

  • कामा-आब्लिक व डैश बने मुसीबत, आवेदक असमंजस में

    लखनऊ (एसएनबी)। सूबे में 72825 शिक्षकों के रिक्त पदों के लिए शुरु हुई भर्ती प्रक्रिया के लिए आवेदन में खामियों की भरमार है। ऑन लाइन आवेदन के लिए निर्धारित प्रारूप को भरने में अभ्यर्थियों को पसीना आ रहा है। आवेदक असमंजस में हैं, ऑन लाइन प्रक्रिया में कामा, आब्लिक व डैश जैसे संकेतांकों के न भर पाने से अभ्यर्थियों की परेशानी बढ़ रही है। मसलन आवेदक के पता में मकान नम्बर सहित तमाम अन्य जानकारी नहीं पूरी हो पा रही है। इसके चलते अभ्यर्थी आवेदन पत्र अपूर्ण रह जाने की आशंका से परेशान है। अभ्यर्थियों का कहना है कि इसी कमी की वहज से शिक्षक भर्ती में उनकी दावेदारी भी खारिज हो सकती है। शिक्षकों की भर्ती में सूचनाओं की जानकारी व अभ्यर्थियों की मदद के लिए खोली गयी ऑन लाइन हेल्प लाइन से भी कोई मदद नहीं मिल पा रही है। हेल्पलाइन पर पूरे दिन फोन करने के बाद भी कोई मदद नहीं मिल पा रही है। साइबर कैफे में बैठे अभ्यर्थियों को छोटी- छोटी जानकारी जुटाने के लिए पूरा दिन गुजर जा रहा है। हेल्पलाइन बेसिक शिक्षा परिषद के इलाहाबाद स्थित मुख्यालय में है। राजधानी से लेकर दूरदराज जिलों के अभ्यर्थियों को आवेदन करने में खासी दिक्कत आ रही है। इसके वजह से आवेदन पत्रों की संख्या में भी इजाफा नहीं हो रहा है। आवेदकों का आरोप है कि शिक्षक भर्ती प्रक्रिया से जुड़े अफसरों का सीयूजी मोबाइल (सरकारी नम्बर) भी आमतौर पर बंद रहता है। इसके चलते कोई जानकारी नहीं मिल पा रही है। अभी तक ग्रेडिंग का पेंच पूरी तरह सुलझ नहीं पाया है और अब आवेदन पत्र भरने के लिए बनाये गये 18 कालम में जानकारी भी नहीं भरी जा रही है। इस बाबत बेसिक शिक्षा परिषद के सचिव आईपी शर्मा से जानकारी लेने की कोशिश की गयी तो उनका भी मोबाइल नम्बर बंद मिला।
    (राष्ट्रीय सहारा)
शिक्षक भर्ती के ऑनलाइन आवेदन में खामियों की भरमार Reviewed by BRIJESH SHRIVASTAVA on 6:10 PM Rating: 5

No comments:

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.