सरकारी प्राइमरी स्कूलों में पढ़ाई जाएंगी सीबीएसई की किताबें : किताबों के अनुवाद पर सहमति नहीं बन सकी

राज्य मुख्यालय। सरकारी प्राइमरी अंग्रेजी माध्यम के स्कूलों में सीबीएसई बोड की किताबें पढ़ाई जाएंगी। इसके लिए अंग्रेजी में अनुवाद कर किताबें नहीं छपवाई जाएंगी। 

बेसिक शिक्षा सचिव हीरालाल गुप्ता की अध्यक्षता में हुई एक बैठक में ये फैसले लिए गए। सूत्रों के मुताबिक, अगले सत्र से पहले चरण में प्रयोग के तौर पर दो अंग्रेजी माध्यम स्कूल के लिए किताबों के अनुवाद पर सहमति नहीं बन सकी। पहले तय किया गया था कि हिन्दी की किताबों का अनुवाद अंग्रेजी में करा लिया जाएगा। बैठक में सीबीएसई की किताबों को पढ़ाने का निणय लिया गया। राज्य सरकार ने हर जिले में कक्षा 1 से 5 तक के दो स्कूल अंग्रेजी माध्यम से चलाए जाने का निणय लिया है।

खबर साभार : हिन्दुस्तान
खबर साभार : डीएनए 

बेसिक शिक्षा परिषद के अंग्रेजी मीडियम की पढ़ाई के लिए चुने गए प्राइमरी स्कूलों में अब सीबीएसई पैटर्न की पढ़ाई होगी। बच्चों को सीबीएसई किताबें ही पढ़ाई जाएंगी। गुरुवार को शासन में हुई बैठक में इस पर निर्णय लिया गया है।प्रदेश के प्रत्येक जिले में बेसिक शिक्षा परिषद के दो प्राथमिक विद्यालयों में नए शैक्षिक सत्र से अंग्रेजी मीडियम की पढ़ाई होगी। उनके लिए अंग्रेजी शिक्षक भी रखे जाएंगे जो बच्चों को अंग्रेजी मीडियम से पढ़ाएंगे। गुरुवार को बेसिक शिक्षा सचिव हीरा लाल गुप्ता की अध्यक्षता में निदेशक एससीईआरटी सर्वेंद्र विक्रम बहादुर सिंह व बेसिक शिक्षा परिषद के सचिव संजय सिन्हा के साथ बैठक बुलाई गई। बैठक में तय हुआ कि अब अंग्रेजी मीडियम के इन विद्यालयों में सीबीएसई की किताबें पढ़ाई जाएंगी।

खबर साभार : अमर उजाला 
बेसिक शिक्षा परिषद के इंग्लिश मीडियम प्राइमरी स्कूलों में सीबीएसई पैटर्न की किताबें चलेंगी। उच्चाधिकारियों की बैठक में इस पर लगभग सहमति बन गई है। इसी तरह परिषदीय स्कूलों के शिक्षकों की हाजिरी इंटरेक्टिव वॉयस रिस्पांस सिस्टम (आईवीआरएस) से चेक करने का निर्णय किया गया है। बेसिक शिक्षा परिषद अगले शैक्षिक सत्र से करीब 150 प्राइमरी स्कूलों में इंग्लिश मीडियम की शिक्षा देगा।

बेसिक शिक्षा मंत्री रामगोविंद चौधरी चाहते हैं कि प्राइमरी स्कूलों में भी बच्चों को इंग्लिश मीडियम की शिक्षा दी जाए। इसके लिए हर जिले में दो-दो ऐसे प्राइमरी स्कूलों को चिह्नित किया जा रहा है जहां पर इंग्लिश मीडियम में शिक्षा दी जाएगी। शासन स्तर पर बृहस्पतिवार को उच्च स्तर पर हुई बैठक में यह तय किया गया है कि इन प्राइमरी स्कूलों में सीबीएसई पैटर्न की किताबें चलाई जाएं। इस संबंध में राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद (एससीईआरटी) के निदेशक को निर्देश दे दिया गया है।


Enter Your E-MAIL for Free Updates :   
सरकारी प्राइमरी स्कूलों में पढ़ाई जाएंगी सीबीएसई की किताबें : किताबों के अनुवाद पर सहमति नहीं बन सकी Reviewed by BRIJESH SHRIVASTAVA on 7:46 AM Rating: 5

No comments:

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.