कस्तूरबा की छात्राओं की आगे की पढ़ाई का रखेंगे हिसाब, राज्य परियोजना निदेशक ने सभी बीएसए को पत्र भेजकर सभी कस्तूरबा विद्यालयों में ट्रैकिंग रिकार्ड मेंटेन करने के निर्देश दिए

इलाहाबाद : कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय की छात्रओं की पढ़ाई-लिखाई का हिसाब-किताब अब स्कूलों में रखा जाएगा। स्कूल की वार्डेन यह रिकार्ड मेंटेन करेंगी।प्रदेश में संचालित 746 कस्तूरबा स्कूलों में से कुछ स्कूल की वार्डेन 8वीं पास बालिकाओं से नियमित संपर्क कर ट्रैकिंग करती हैं।

बिजनौर के कस्तूरबा विद्यालय हल्दौर ने तो 2005-06 सत्र से 2015-16 तक का रिकार्ड रखा है। इसे बेस्ट प्रैक्टिस के तौर पर यूपी ने भारत सरकार को भेजा है। सर्व शिक्षा अभियान के राज्य परियोजना निदेशक जीएस प्रियदर्शी ने सभी बीएसए को 14 जुलाई को पत्र भेजकर सभी कस्तूरबा विद्यालयों में रिकार्ड मेंटेन करने के निर्देश दिए हैं।

कस्तूरबा की छात्राओं की आगे की पढ़ाई का रखेंगे हिसाब, राज्य परियोजना निदेशक ने सभी बीएसए को पत्र भेजकर सभी कस्तूरबा विद्यालयों में ट्रैकिंग रिकार्ड मेंटेन करने के निर्देश दिए Reviewed by Praveen Trivedi on 10:15 PM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.