बीटीसी 2015 के 20 हजार आवेदन रद्द, जांच में अंक कम होने व अन्य गड़बड़ियां मिली, नौ अगस्त से शुरू होगी काउंसिलिंग, 21 अगस्त से प्रवेश, 22 सितंबर से सत्र शुरू

इलाहाबाद : बीटीसी 2015 में दाखिले की तैयारी कर रहे बीस हजार से अधिक युवाओं के आवेदन निरस्त हो गए हैं। परीक्षा नियामक प्राधिकारी उप्र की जांच में सामान्य वर्ग के जिन युवाओं के स्नातक में अंक 50 फीसद से कम थे या फिर आवेदन करते समय उन्होंने गलत सूचनाएं अंकित कर दी उन्हें दाखिले की दौड़ से बाहर कर दिया गया है। असल में आगामी नौ अगस्त से काउंसिलिंग शुरू होनी है, ऐसे समय में इतने आवेदन निरस्त होने से खलबली मची है।

बीटीसी 2015 के लिए इस बार 23 जून से 18 जुलाई तक ऑनलाइन आवेदन लिए गए थे। इसके बाद 22 जुलाई तक ऑनलाइन आवेदन में त्रुटि सुधार का मौका दिया गया। इस बीच पांच लाख 756 युवाओं ने दाखिले के लिए पंजीकरण कराया था और तीन लाख 85 हजार 538 अभ्यर्थियों ने आवेदन किए थे। बीते एक अगस्त को एनआइसी ने पूरी सूची परीक्षा नियामक प्राधिकारी को सौंप दी और उनके यहां जांच शुरू हुई। इसमें यह देखा गया कि अभ्यर्थियों के अंक एवं आवेदन में अन्य सूचनाएं सही हैं या नहीं। मसलन एससी, एसटी, ओबीसी, विकलांग, स्वतंत्रता संग्राम सेनानी आश्रित, पूर्व सैनिक के स्नातक में 45 प्रतिशत से कम अंक, सामान्य अभ्यर्थी की 18 वर्ष से कम एवं 35 वर्ष से अधिक आयु, आरक्षित वर्ग के अभ्यर्थी की 40 वर्ष से अधिक आयु वहीं विकलांग की 50 वर्ष से अधिक आयु के अलावा प्रदेश में निवास करने का प्रमाणपत्र न होने जैसी बड़े पैमाने पर गड़बड़ियां मिली। परीक्षा नियामक प्राधिकारी ने मानक न पूरे करने एवं आवेदन में गड़बड़ी करने वाले करीब 20 हजार से अधिक युवाओं के आवेदन निरस्त कर दिए हैं। इसके बाद यह सूची डायट मुख्यालयों को भेजी जा रही है।

ज्ञात हो कि प्रदेश भर के जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान यानी डायटों पर नौ से 18 अगस्त तक बीटीसी दाखिले के लिए काउंसिलिंग होगी। इसके बाद 21 अगस्त से 21 सितंबर तक युवाओं को दाखिला लेना होगा। 2015 सत्र का शुभारंभ 22 सितंबर से किया जाएगा।

बीटीसी 2015 के 20 हजार आवेदन रद्द, जांच में अंक कम होने व अन्य गड़बड़ियां मिली, नौ अगस्त से शुरू होगी काउंसिलिंग, 21 अगस्त से प्रवेश, 22 सितंबर से सत्र शुरू Reviewed by Praveen Trivedi on 6:06 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.