बीटीसी 2015 : शपथ पत्र देकर सुधारी जा सकेंगी आवेदन की गलतियां, परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव ने सभी डायट प्राचार्यो को दिया निर्देश



इलाहाबाद : यदि आपसे बीटीसी 2015 का ऑनलाइन आवेदन करते समय कुछ त्रुटियां रह गई हैं तो उसे शपथपत्र देकर सुधारा जा सकेगा। इस संबंध में प्रदेश के सभी जिलों में निर्देश भेज दिए गए हैं।

बीटीसी 2015 का ऑनलाइन आवेदन करते समय विज्ञान या फिर कला वर्ग, प्राप्तांक, पूर्णाक, पुरुष व महिला सहित अन्य प्रविष्टियां यदि त्रुटिपूर्ण रह गई हैं तो अभ्यर्थियों को घबराने की जरूरत नहीं है और न ही उन्हें काउंसिलिंग से दूर रखा जाएगा। हालांकि आवेदन के बाद इस तरह की त्रुटियां सुधारने के लिए अभ्यर्थियों को अलग से मौका दिया गया था, लेकिन फिर भी बड़ी संख्या में अभ्यर्थी गलतियां ठीक कराने को लेकर परेशान हैं। ऐसे में परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव नीना श्रीवास्तव ने सभी डायट प्राचार्यो को निर्देश दिया है कि अभ्यर्थियों के मूल अभिलेखों के जांच के बाद उनका शैक्षिक गुणांक वास्तविक अभिलेखों एवं अन्य प्रमाणपत्रों के आधार पर मिलान करा लें। ऐसे ही अन्य गलती की जांच करा लें इसके बाद त्रुटिपूर्ण प्रविष्टियों से संबंधित शपथ पत्र लेकर मौका दिया जाए।

हालांकि इसके बाद भी कुछ डायट प्राचार्यो ने अभ्यर्थियों को वापस लौटाया है और वह सीधे परीक्षा नियामक कार्यालय पहुंच रहे हैं। इन अभ्यर्थियों को दोबारा उन्हीं जिलों में भेजा जा रहा है, जहां से वह लौटाए गए हैं।

Enter Your E-MAIL for Free Updates :   

बीटीसी 2015 : शपथ पत्र देकर सुधारी जा सकेंगी आवेदन की गलतियां, परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव ने सभी डायट प्राचार्यो को दिया निर्देश Reviewed by Brijesh Shrivastava on 10:35 PM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.