शिक्षामित्र और बीटीसी अभ्यर्थी भिड़े : बिना अनापत्ति के काउंसिलिंग को पहुंचे शिक्षामित्रों को रोका बीटीसी अभ्यर्थियों ने, बिना अनापत्ति के ही शिक्षा मित्रों की काउंसिलिंग कराने का आरोप

इलाहाबाद : जिस बात की आशंका थी, आखिर वही हुआ। अनापत्ति प्रमाण पत्र को लेकर बुधवार को बीटीसी अभ्यर्थी और शिक्षा मित्र आमने-सामने आ गए। 16448 शिक्षकों की भर्ती में दूसरे दिन काउंसिलिंग कराने पहुंचे शिक्षा मित्रों को बीटीसी अभ्यर्थियों ने रोक लिया और उनमें हाथापाई हुई। पुलिस ने हस्तक्षेप कर दोनों पक्षों को शांत कराया। बीटीसी अभ्यर्थियों ने आरोप लगाया है कि बेसिक शिक्षा अधिकारियों ने इलाहाबाद समेत प्रदेश के कई जिलों में बिना अनापत्ति के ही शिक्षा मित्रों की काउंसिलिंग कराई है। 


प्रदेश में परिषदीय स्कूलों में सहायक अध्यापकों के 16448 शिक्षक के पदों पर नियुक्ति के लिए चल रही काउंसिलिंग का बुधवार को दूसरा दिन था। एक दिन पहले ही बेसिक शिक्षा परिषद ने यह आदेश जारी किया है कि शिक्षा मित्र विभागीय अनापत्ति प्रमाण के बिना काउंसिलिंग में शामिल नहीं होंगे। इस भर्ती के तहत इलाहाबाद में 244 पदों पर नियुक्तियां होनी हैं। पहले दिन 464 अभ्यर्थी काउंसिलिंग करा चुके हैं। बीएसए कार्यालय पर काउंसिलिंग चल रही थी कि शिक्षा मित्रों का जत्था वहां पहुंच गया। उनका कहना था कि जो शिक्षामित्र समायोजित नहीं हुए हैं, उन्हें कोर्ट से काउंसिलिंग में शामिल होने की अनुमति मिली है। इसका बीटीसी अभ्यर्थियों ने विरोध किया। हंगामा बढ़ा तो मौके पर पुलिस बुलानी पड़ी। 


अभ्यर्थियों के अनुसार इस मसले पर मंगलवार को भी दोनों पक्षों में विवाद हुआ था। बीटीसी मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष राबीश यादव का कहना था कि रोक के बावजूद बीएसए ने अनुचित तरीके से काउंसिलिंग कराई है। इसका ब्योरा सार्वजनिक किया जाए, अन्यथा अभ्यर्थी प्रदर्शन करेंगे।


शिक्षामित्र और बीटीसी अभ्यर्थी भिड़े : बिना अनापत्ति के काउंसिलिंग को पहुंचे शिक्षामित्रों को रोका बीटीसी अभ्यर्थियों ने, बिना अनापत्ति के ही शिक्षा मित्रों की काउंसिलिंग कराने का आरोप Reviewed by Praveen Trivedi on 6:20 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.