निजी कालेज 21 सितम्बर तक खुद भरेंगे बीटीसी 2015 की सभी खाली सीटें, परीक्षा नियामक प्राधिकारी ने नए दिशा-निर्देश जारी किए, 22 सितंबर से प्रशिक्षण सत्र शुरू होगा

इलाहाबाद : बीटीसी 2015 की सभी सीटें जल्द भरने के लिए परीक्षा नियामक प्राधिकारी ने नए दिशा-निर्देश जारी किए हैं। निजी कालेजों को खाली सीटें खुद भरने का जिम्मा सौंपा जा रहा है, ताकि वह 18 से 21 सितंबर के बीच कार्यवाही पूरी कर लें। सभी जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान यानी डायट प्राचार्यो से कहा गया कि वह निजी कालेजों की सीटें भरने में तत्परता बरतें। जिन अभ्यर्थियों को प्रवेश दिया जा चुका है उनका 18 तक कालेज आवंटन जरूर कर दिया जाए और सीटें 21 सितंबर तक हर हाल में भरी जानी हैं। 


बीटीसी 2014 में प्रदेश भर में बड़ी संख्या में सीटें खाली रह गई थी। इससे निजी कालेज इस बार पहले से ही सचेत हैं और उन्होंने हाईकोर्ट में याचिका दाखिल करके कहा है कि डायट प्राचार्य उनके संस्थान के लिए अभ्यर्थी चयन में देरी करने के साथ ही तत्पर नहीं रहते। इससे परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव ने भी अब तेजी दिखाई है, क्योंकि बीटीसी का शैक्षिक सत्र शुरू होने में चंद दिन शेष हैं। 


ज्ञात हो कि सुप्रीम कोर्ट का निर्देश है कि 21 सितंबर तक प्रवेश लेकर 22 सितंबर से प्रशिक्षण सत्र शुरू किया जाए। अभी तमाम जिलों के निजी कालेजों में बड़ी संख्या में सीटें खाली हैं। ऐसे में परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव नीना श्रीवास्तव ने शुक्रवार को पांच सूत्रीय निर्देश सभी प्राचार्यो को भेजा है। इसमें कहा गया है कि यदि 18 सितंबर तक निजी कालेजों की सभी सीटें न भर पाएं तो सभी चरणों की अभिलेखीय जांच में उपस्थित होने वाले उन अभ्यर्थियों की सूची निजी कालेजों को सौंप दी जाए जिनका प्रवेश नहीं हुआ है। साफ है कि अंतिम दिनों में निजी कालेज खुद ही भावी प्रशिक्षुओं की तलाश करेंगे।


निजी कालेज 21 सितम्बर तक खुद भरेंगे बीटीसी 2015 की सभी खाली सीटें, परीक्षा नियामक प्राधिकारी ने नए दिशा-निर्देश जारी किए, 22 सितंबर से प्रशिक्षण सत्र शुरू होगा Reviewed by Praveen Trivedi on 5:51 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.