41 खण्ड शिक्षाधिकारियों को निलंबित करने की संस्तुति, तबादले के चार माह बाद भी कार्यभार न संभालने का मामला, लिपिकों के भी ट्रांसफर नहीं रोके जाएंगे 

☀ कर्मचारियों और लिपिकों के तबादले में भी संशोधन नहीं

☀ 11 खण्डशिक्षाधिकारी चल रहे मेडिकल पर 

☀ 11 ने कार्यभार न संभालने का कोई कारण ही नहीं बताया


 इलाहाबाद । प्रदेश में कईसाल से एक ही जिले में जमे 41 खण्डशिक्षाधिकारियों ने तबादले के चार माह बाद भी कार्यभार नहीं संभाला है।इस मामले को गंभीरता से लेते हुए अपर शिक्षा निदेशक बेसिक विनय कुमार पाण्डेय ने इन खण्डशिक्षाधिकारियों को निलंबित करने की संस्तुति शासन से बुधवार को की है।इनमें से 11 ऐसे खण्डशिक्षाधिकारी हैं, जो चार माह से मेडिकल पर चल रहे हैं,जबकि 11 ऐसे हैं, जिन्होंने कार्यभार न संभालने का कोईकारण नहीं बताया है।


बेसिक शिक्षा सचिव अजय कुमार सिंह यादव ने कईवर्षसे एक ही जिले के एक ही ब्लाक में जमे हुए 110 खण्डशिक्षाधिकारियों का तबादला जून में कर दिया था।इनमें से अधिकतर ने नयी तैनाती वाले स्थान पर कार्यभार संभाल लिया। लेकिन 41 ऐसे खण्ड शिक्षाधिकारी हैं,जिन्होंने तबादले के चार माह बाद भी कार्यभार नहीं संभाला है।सबसे बड़ी बात यह हैकि इनमें से 11 ऐसे हैं, जिन्होंने अभी तक कार्यभार न संभालने का कोईकारण भी नहीं बताया है ।


 इस पर अपर शिक्षा निदेशक बेसिक उत्तर प्रदेश इलाहाबाद विनय कुमार पाण्डेय ने इन्हें निलंबित करने के साथ ही अनुशासनात्मक कार्रवाई की संस्तुति की है।उन्होंने बताया कि 11 खण्ड शिक्षाधिकारी चार माह से मेडिकल पर चल रहे हैं। इस पर शासन को लिखा गया है कि मेडिकल बोर्ड बनाये जायें और इन सबका मेडिकल परीक्षण हो।अगर किसी खण्डशिक्षाधिकारी ने गलत मेडिकल लगाया है, तो उसको निलंबित करते हुए अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाये।



श्री पाण्डेय ने बताया कि नौ ऐसे खण्ड शिक्षाधिकारी हैं, जिनकी तबीयत खराब हैया कोईऐसी पारिवारिक स्थिति है, जिससे कि उनका नये तैनाती वाले स्थान पर जाना मुश्किल है, तो उनके तबादले में संशोधन करने का प्रस्ताव है।10खण्डशिक्षाधिकारी ऐसे हैं,जिन्होंने अभी तक अपनी कोई बात हीं नहीं रखी है।श्री पाण्डेय ने बताया कि शासन को इन सभी खण्ड शिक्षाधिकारियों के खिलाफसख्त अनुशासनात्मक एवं विभागीय कार्रवाईके लिए संस्तुति की गयी है।शासन से मंजूरी मिलते ही इनके खिलाफ कार्रवाई शुरू होगी।


इलाहाबाद। अपर शिक्षा निदेशक बेसिक उत्तर प्रदेश इलाहाबाद विनय कुमार पाण्डेय ने बताया कि कईवर्षसे एक ही विभाग में जमे हुए जिन कर्मचारियों का तबादला कर दिया गया है, उसमें कोईभी संशोधन नहीं किया जायेगा। अगर वे तुरन्त नयी जगह ज्वाइनिंग नहीं करते हैं,तो उनके खिलाफ निलंबन सहित अन्य विभागीय कार्रवाईशुरूहोगी।उन्होंने बताया कि शिक्षणोतर कर्मचारियों में ऐसे चार से छह कर्मचारी नेता हैं,जिनके तबादलों में संशोधन किया जा सकता है। लेकिन उनका तबादला धरना- प्रदर्शन से रुकने वाला नहीं है क्योंकि उनके खिलाफशासन और विभाग में बहुत अधिक शिकायत है।इनमें इलाहाबाद डीआईओएस, राज्य शिक्षा संस्थान व डीडीआर कार्यालय सहित अन्य विभाग हैं। 

41 खण्ड शिक्षाधिकारियों को निलंबित करने की संस्तुति, तबादले के चार माह बाद भी कार्यभार न संभालने का मामला, लिपिकों के भी ट्रांसफर नहीं रोके जाएंगे  Reviewed by Praveen Trivedi on 8:33 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.