शिक्षक ही बना सकते हैं शिक्षा की गुणवत्ता बेहतर  - बोले जावड़ेकर, राष्ट्रपति ने दी शिक्षकों को शिक्षक दिवस की शुभकामनाएं

मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने शिक्षक दिवस की पूर्व संध्या पर रविवार को राष्ट्रपति पुरस्कार विजेता शिक्षकों से एक बातचीत के दौरान कहा कि क्वालिटी, एक्सेसेबिलिटी, इक्विटी, एकाउंटिबिलिटी और अफरेडेबिलिटी के आधार पर नई शिक्षा नीति का निर्माण किया जाएगा और इसके लिए शिक्षकों को प्री सर्विस और इन सर्विस प्रशिक्षण उपलब्ध भी कराया जाएगा। उन्होंने शिक्षा की गुणवत्ता की भी बात की और कहा कि शिक्षा तो सर्वशिक्षा अभियान के तहत सब तक पहुंच गई है, अब सिर्फ इसकी गुणवत्ता बेहतर करने की जरूरत है, जो सिर्फ शिक्षक ही कर सकते हैं। 



जावड़ेकर ने कहा कि देशभर में 27 करोड़ लोगों को शिक्षा प्राप्त होती है और लगभग 85 लाख शिक्षक इस काम को करते हैं। उन्होंने कहा कि भारत की भावी पीढ़ी के निर्माण में शिक्षकों की बड़ी भूमिका है और इसे शिक्षकों को समझना चाहिए। बहुत से अच्छे शिक्षकों में से कुछ को राष्ट्रपति पुरस्कार दिया जा रहा है। 



उधर, राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने अपने संदेश में कहा कि शिक्षक दिवस के अवसर पर मैं देश के शिक्षकों को बधाई एवं शुभकामनाएं देता हूं। उन्होंने कहा, शिक्षक दिवस ऐसा अवसर है, जब हम राष्ट्र निर्माण में अपने शिक्षकों की समर्पित सेवा को पहचान देते हैं। ये शिक्षक हमारे बच्चों की बौद्धिक एवं नैतिक बुनियाद तैयार करने एवं इसे मजबूती प्रदान करने में जुटे हैं।

शिक्षक ही बना सकते हैं शिक्षा की गुणवत्ता बेहतर  - बोले जावड़ेकर, राष्ट्रपति ने दी शिक्षकों को शिक्षक दिवस की शुभकामनाएं Reviewed by Praveen Trivedi on 7:20 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.