सरकारी स्कूलों में परीक्षाएं 15 से 25 अक्टूबर तक लेकिन जिलों में अभी बंट रहीं किताबें, छपाई में लेटलतीफी से पढ़ाई का हुआ बुरा हाल

लखनऊ: सरकारी प्राइमरी स्कूलों में पूरी तरह से किताबें बंट नहीं पाईं थीं कि परीक्षा की तारीख आ गई है। सभी स्कूलों को बेसिक शिक्षा परिषद ने 15 से 25 अक्टूबर के बीच छमाही परीक्षाएं कराने के आदेश दिए हैं। सरकार ने सितंबर से किताबें बंटवानी शुरू की थीं। अब तक करीब 60 फीसदी किताबें ही बंट पाई हैं। ऐसे में जिन्हें किताबें मिल भी गई हैं, वो छह महीने की पढ़ाई कुछ ही दिन में कैसे पूरी करके परीक्षा देंगे, कहना मुश्किल है।

★ सबसे तेज, सबसे विश्वसनीय, असली "प्राइमरी का मास्टर" का एंड्राइड एप क्लिक करके  डाउनलोड करें।

छमाही परीक्षाएं अक्सर नया सत्र शुरू होने के छह महीने बाद होती हैं। पहले जब जुलाई से सत्र होता था तो ये परीक्षाएं नवंबर-दिसंबर में होती थीं, लेकिन तब जुलाई में ही किताबें मिल जाती थीं। अब नया सत्र अप्रैल से शुरू कर दिया गया। ऐसे में छह महीने अक्टूबर में ही पूरे हो गए। इस बीच परिषद के सचिव संजय सिन्हा की ओर से दिए गए आदेश में कहा गया कि नए सत्र को छह महीने बीत गए हैं। ऐसे में छमाही परीक्षाएं 15 से 25 अक्टूबर के बीच जरूर पूरी करा ली जाएं। 

किताबें बंट नहीं पाईं, इम्तेहान की तैयारी
उधर, इन किताबों की छपाई लगातार लेट होती गई। अप्रैल से नया सत्र शुरू हो गया, लेकिन जुलाई में भी किताबें नहीं छप सकीं। टेंडर विवाद के कारण पिछले महीने किताबें छप सकीं। उसमें भी पूरी किताबें अभी नहीं बंटी हैं। पहले चरण में भाषा और गणित की किताबें बांटी गईं। अन्य विषयों की किताबें भी कई जिलों में नहीं बंट सकी हैं।

☀ कोर्ट में मामला होने के कारण इस बार किताबों में देर हुई, लेकिन अब ज्यादातर जिलों में किताबें बंट गई हैं। पुरानी किताबों से बच्चे पढ़ाई तो कर ही रहे थे।  -अजय कुमार सिंह, सचिव, बेसिक शिक्षा

☀ सभी जिलों में किताबें नहीं बंटी हैं। बिना पढ़ाई के नया सत्र जल्द शुरू करना और परीक्षाएं करा लेने का कोई मतलब नहीं है। रिजल्ट अच्छा नहीं होता तो दोष शिक्षकों को दिया जाता है।  -अनिल यादव, दूरस्थ बीटीसी शिक्षक संघ

☀ कागजों पर सत्र जल्द करने का कोई मतलब नहीं है। यदि नया सत्र अप्रैल से शुरू कर दिया तो उससे पहले किताबें भी छप जानी चाहिए। इसके लिए सरकार को पहले से तैयारी करनी चाहिए। -विनय कुमार सिंह, प्रदेश अध्यक्ष, प्राथमिक शिक्षक प्रशिक्षित स्नातक असोसिएशन

सरकारी स्कूलों में परीक्षाएं 15 से 25 अक्टूबर तक लेकिन जिलों में अभी बंट रहीं किताबें, छपाई में लेटलतीफी से पढ़ाई का हुआ बुरा हाल Reviewed by Praveen Trivedi on 8:53 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.