सरप्लस शिक्षक वालें जनपदों में भी हुए स्थानांतरण, रोक के बावजूद हुए तबादले, शिक्षक देख रहें दूसरी सूची की राह


अंतर जिला तबादलों में बेसिक शिक्षा परिषद के शिक्षक उन जिलों में भी स्थानांतरण कराने में सफल रहे हैं,जिन्हें सरप्लस शिक्षक वाला जिला बताया
जा रहा था। वहीं, कई ऐसे शिक्षक भी हैं जिन्हें
बुंदेलखंड के जिलों के लिए तय समय में रिलीव
नहीं किया जा सका है, जबकि वहां पर
शिक्षकों की कमी है। शिक्षक अब तबादले की
दूसरी लिस्ट आने की राह देख रहे हैं।
परिषदीय शिक्षकों का तीन वर्ष बाद अंतर
जिला तबादला हुआ है। इसमें बड़ी तादाद में
शिक्षकों को अपने घर लौटने का मौका मिला
है, वहीं ऐसे शिक्षकों की भी कमी नहीं रही,
जिन्होंने विभाग को धोखे में रखकर अपना
तबादला ग्रामीण क्षेत्र से नगर में करा लिया
था। वहीं कुछ ऐसे भी थे, जिनकी नियुक्ति हुए
तीन साल पूरे नहीं हुए। ऐसे प्रकरण उजागर होने के
बाद वह रिलीव तो नहीं किए गए, लेकिन
सरप्लस स्टॉफ वाले जिलों में बेसिक शिक्षा
अधिकारियों ने उदारतापूर्वक शिक्षकों को
रिलीव कर दिया। लखनऊ ही नहीं कानपुर नगर,
गाजियाबाद, गौतमबुद्ध नगर आदि जिलों में
शिक्षक पहुंचने में कामयाब रहे हैं। हाल ही में
सीतापुर से लखनऊ के लिए शिक्षिका को
रिलीव कर दिया गया।

सरप्लस शिक्षक वालें जनपदों में भी हुए स्थानांतरण, रोक के बावजूद हुए तबादले, शिक्षक देख रहें दूसरी सूची की राह Reviewed by Ram Krishna mishra on 11:29 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.