आरटीई के अंतर्गत निजी स्कूलों  में दाखिला पाने वाले बच्चों को मिलेगा पांच हजार रुपए, मुख्यमंत्री 20 नवम्बर को बांटेंगे बच्चों को चेक : एडमिशन को अभी भी तरस रहे बच्चों के मामले को लेकर बुलाई गई बैठक

लखनऊ । मुख्यमंत्री अखिलेश यादव शिक्षा का अधिकार अधिनियम (आरटीई) के तहत निजी स्कूलों की 25 फीसदी सीटों पर दाखिला पाने वाले बच्चों को 20 नवंबर को किताब व यूनीफार्म खरीदने के लिए पांच हजार रुपए की आर्थिक मदद देंगे। कार्यक्रम की शुरुआत 100 बच्चों को चेक वितरित करके होगी। चेक का पैसा सीधे छात्रों के खाते में भेजा जाएगा।

आरटीई के तहत निजी स्कूलों में बच्चों को दाखिले का प्रावधान तो कर दिया गया। लेकिन दुर्बल व अलाभित समूह के दाखिला लेने वाले बच्चों के सामने किताबें व यूनीफॉर्म आदि खरीदने का पैसा नहीं होता है, जिससे उनके अभिभावकों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। लेकिन अब मुख्यमंत्री ने उनकी यह समस्या भी दूर कर दी है। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव 20 नवंबर को अपने आवास पर आरटीई के तहत दाखिला लेने वाले 100 बच्चों को पांच-पांच हजार रुपए का चेक देकर इसकी शुरुआत करेंगे।

छात्रों के चयन से लेकर इनके चैक बनवाने की जिम्मेदारी जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी लखनऊ और वित्त एवं लेखाधिकारी लखनऊ को सौंपी गई है। सचिव बेसिक शिक्षा अजय कुमार सिंह ने तीन अक्टूबर को बेसिक शिक्षा निदेशक दिनेश बाबू शर्मा को पत्र जारी कर 2013-14 सत्र से अब तक निजी स्कूलों में प्रवेश दिलवाए गए तकरीबन 16 हजार छात्र-छात्राओं को पांच-पांच हजार रुपए के हिसाब से किताब, वर्कबुक और यूनिफार्म के लिए दिए जाने के निर्देश दिए हैं। इसके लिए बजट पहले ही जारी किया जा चुका है।

एक ओर मुख्यमंत्री आरटीई के तहत दाखिला पा चुके दुर्बल व अलाभित समूह के बच्चों को पांच-पांच हजार रुपए की मदद देंगे। वहीं राजधानी में बहुत से ऐसे बच्चे हैं जिन्हें अब तक निजी स्कूलों ने दाखिला तक नहीं दिया। जबकि वे निमयानुसार अर्ह हैं। ऐसे में उन्हें यह मदद नहीं मिल पाएगी। समाजसेवी संदीप पांडेय की ओर से भेजे गए पत्र के मुताबिक आरटीई के अंतर्गत राजेंद्र नगर स्थित नवयुग रेडियंस में 25 बच्चे दाखिले के लिए अर्ह पाए गए थे। स्कूल प्रशासन ने सिर्फ दो बच्चों पाखी राजपूत और आसना फरहद को दाखिला दिया। लेकिन कुछ ही दिन बाद उन्हें स्कूल से निकाल दिया। यही स्थिति महानगर स्थित वीरेंद्र स्वरूप पब्लिक स्कूल की है। यहां स्कूल प्रशासन ने शान मोहम्मद व मोहम्मद जैद को दाखिला देने के बाद बाहर निकाल दिया। इसके अलावा सीएमएस में 58, नवयुग रेडियंस में 25, सिटी इंटरनेशनल स्कूल मानस विहार में 10 और सेंट मैरी स्कूल मटियारी में पांच बच्चों को अब तक दाखिला नहीं दिया गया है।

हालांकि सीएमएस का दावा है कि बीएसए ने जिन बच्चों की भेजी है वह नियमानुसार सही नहीं है।आज होगी तैयारियों की बैठकआरटीई के तहत दाखिला लेने वाले बच्चों को चेक वितरण मुख्यमंत्री खुद करेेंगे। इसको लेकर सचिव मुख्यमंत्री पार्थ सारथी सेन शर्मा ने बुधवार को दोपहर 12 बजे एक बैठक बुलाई है। जिसमें सचिव बेसिक शिक्षा, राज्य परियोजना निदेशक, निदेशक बेसिक शिक्षा व एसआईओ को बुलाया गया है।

आरटीई के अंतर्गत निजी स्कूलों  में दाखिला पाने वाले बच्चों को मिलेगा पांच हजार रुपए, मुख्यमंत्री 20 नवम्बर को बांटेंगे बच्चों को चेक : एडमिशन को अभी भी तरस रहे बच्चों के मामले को लेकर बुलाई गई बैठक Reviewed by Sona Trivedi on 6:37 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.