प्राइमरी स्कूलों में 30 हजार शिक्षकों की जल्द भर्ती की तैयारी, चुनाव से पहले सरकार भर्ती प्रक्रिया शुरू करना चाहती, बीएसए को खाली पदों का पूरा ब्योरा भेजने के सख्त निर्देश

लखनऊ: प्राइमरी स्कूलों में 30 हजार शिक्षकों की जल्द भर्ती की तैयारी है। प्रदेश सरकार इन पदों पर विधान सभा चुनाव आचार संहिता लगने से पहले भर्ती करना चाहती है। पिछले हफ्ते उच्च अधिकारियों की इस मुद्दे पर बैठक के बाद सभी बीएसए को खाली पदों का ब्योरा भेजने के निर्देश दिए गए हैं। विधान सभा चुनाव से पहले इन खाली पदों पर सरकार भर्ती प्रक्रिया शुरू करना चाहती है। 




सपा सरकार बनने के बाद प्रदेश में करीब 2.5 लाख शिक्षकों की भर्ती हो चुकी है। इनमें 1.37 लाख शिक्षा मित्रों का समायोजन भी शामिल है। उस समय शिक्षा मित्रों को समायोजित करने के लिए करीब 19 हजार पद कम पड़ रहे थे। इसके लिए करीब 15 हजार नए पद सृजित भी किए गए। शिक्षा मित्रों का मामला कोर्ट में है, ऐसे में सरकार ने अब इन्हें सीधी भर्ती से भरने का निर्णय लिया है। इसके अलावा शिक्षकों के रिटायरमेंट से कुछ पद खाली हुए हैं। अनुमान लगाया जा रहा है कि इनकी संख्या करीब 30 हजार हो सकती है। 



बीएसए को निर्देश दिए गए हैं कि वे खाली पदों का पूरा ब्योरा भेजें। सभी जिलों में कुल सृजित पदों की संख्या और उनकी तुलना में कुल खाली पदों की संख्या भी मांगी गई है। यह सूचना जल्द से जल्द भेजने के लिए कहा गया है। बैठक में यह भी चर्चा हुई कि सीधी भर्ती के इन पदों के लिए बीटीसी और टीईटी शैक्षिक योग्यता रखी जाए। साथ ही ऑनलाइन आवेदन पर भी चर्चा हुई है। 


सरकार की मंशा अच्छी है। इससे निश्चित तौर पर प्रदेश के 30 हजार बेरोजगारों को शिक्षक बनने का मौका मिलेगा। अधिसूचना लागू होने से पहले भर्ती शुरू हो जाए, इसके लिए प्रक्रिया में तेजी लाए जाने की जरूरत है।  -विनय कुमार सिंह, अध्यक्ष, प्राथमिक शिक्षक प्रशिक्षित स्नातक असोसिएशन



प्राइमरी स्कूलों में 30 हजार शिक्षकों की जल्द भर्ती की तैयारी, चुनाव से पहले सरकार भर्ती प्रक्रिया शुरू करना चाहती, बीएसए को खाली पदों का पूरा ब्योरा भेजने के सख्त निर्देश Reviewed by Ram Krishna mishra on 5:49 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.