सुविधाओं की पड़ताल में सुप्रीम कोर्ट की टीम ने जाना बेसिक स्कूलों का हाल, शौचालय की साफ़ सफाई के लिए धन की बात उठाई शिक्षकों ने, आज भी कई स्कूलों में जाएगी टीम

इलाहाबाद : परिषदीय स्कूलों में शौचालय, पेयजल, मिड डे मील समेत सुविधाओं की पड़ताल सुप्रीमकोर्ट द्वारा गठित टीम कर रही है। 25 नवंबर को टीम फाफामऊ, सोरांव, मऊआइमा व नगर क्षेत्र के स्कूलों की मूलभूत सुविधाओं की हकीकत देखेगी।


इलाहाबाद : परिषदीय स्कूलों में शौचालय व स्वच्छ पेयजल की हकीकत देखने के लिए गुरुवार को सुप्रीमकोर्ट की टीम इलाहाबाद में थी। दो सदस्यीय टीम ने तीन ब्लाकों में 12 स्कूलों का निरीक्षण किया। यहां मिड डे मील, पाठ्य पुस्तकें, शौचालयों का हाल जाना। शिक्षक परेशान हाल दिखे। कई प्रधानाध्यापकों ने इस बात का रोना रोया कि शौचालय की सफाई के लिए उनके पास बजट नहीं है।


सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता अशोक गुप्ता व गौरव अग्रवाल ने बहादुरपुर ब्लाक में आधा दर्जन स्कूलों का निरीक्षण किया। सुबह नौ बजे के करीब टीम प्राथमिक विद्यालय प्रतिष्ठानपुर पहुंची। यहां शौचालय की साफ-सफाई, मिड डे मील आदि की पड़ताल की। फिर चकमहीन स्थित प्राथमिक विद्यालय का जायजा लिया। प्राथमिक एवं पूर्व माध्यमिक विद्यालय अंदावा, प्राथमिक विद्यालय भागीपुर, सरपतीपुर व रहिमापुर स्थित प्राथमिक स्कूलों के प्रधानाध्यापकों ने बताया कि शौचालय की सफाई के लिए कोई मद नहीं है। अपने निजी धन से शौचालय की सफाई करानी होती है। टीम ने भरोसा दिया कि यह तथ्य माननीय सर्वोच्च न्यायालय के संज्ञान में लाया जाएगा।


शौचालय की सफाई के लिए प्रधानाध्यापक के अधीन विवेकाधीन कोष बनाने की बात सोची जा सकती है। फिर टीम ने जसरा ब्लाक स्थित प्राथमिक विद्यालय सेहुरा, प्राथमिक विद्यालय रघुवीर का पुरा पिपरांव, प्राथमिक विद्यालय गंभीरपुर, प्राथमिक विद्यालय मदरहा, प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालय जसरा में शैक्षिक गुणवत्ता, पेयजल व शौचालय की हकीकत देखी। चाका ब्लाक के प्राथमिक व उच्च प्राथमिक स्कूल दादूपुर का भी जायजा लिया। टीम के साथ बेसिक शिक्षा अधिकारी हरिकेश यादव, मिड डे मील जिला समन्वयक राजीव त्रिपाठी आदि थे।


सुविधाओं की पड़ताल में सुप्रीम कोर्ट की टीम ने जाना बेसिक स्कूलों का हाल, शौचालय की साफ़ सफाई के लिए धन की बात उठाई शिक्षकों ने, आज भी कई स्कूलों में जाएगी टीम Reviewed by Sona Trivedi on 6:36 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.