नौ जिलों के लिए अटकीं यूपीटीईटी की तैयारियां, अफसरों की मनमानी से परीक्षा तैयारियों में लगातार देरी, तय नहीं कर सके परीक्षा केंद्र

इलाहाबाद : अफसरों की मनमानी से परीक्षा तैयारियों में लगातार देरी हो रही है। हालत यह है कि शिक्षक पात्रता परीक्षा उप्र यानी यूपी टीईटी 2016 की परीक्षा दिसंबर में होनी है, लेकिन अभी प्रदेश के नौ जिलों ने केंद्र तय करके नहीं भेजा है। परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव पहले ही इस पर नाराजगी जता चुकी हैं और सभी जिलों से ई-मेल के जरिए तय प्रोफार्मा पर रिपोर्ट मुहैया कराने का निर्देश दिया। उसका का अनुपालन नहीं किया गया है। 



टीईटी 2016 के लिए पंजीकरण एवं ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया पूरी होने के बाद परीक्षा केंद्रों का निर्धारण होना है। 26 सितंबर को जारी हुए शासनादेश के मुताबिक 11 नवंबर तक परीक्षा केंद्रों का निर्धारण हो जाना था। इसके लिए परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव ने वर्ष 2016 के परीक्षार्थियों की संख्या में दस फीसद की बढ़ोतरी करके केंद्र बनाने का अनुरोध किया था। इसके बाद भी जिला विद्यालय निरीक्षकों ने इस ओर ध्यान ही नहीं दिया। इसीलिए अब तक सभी जिलों में केंद्र तय नहीं हो सकें हैं। हीलाहवाली करने वाले नौ जिलों को फिर सख्त निर्देश दिया गया है कि वह गुरुवार दोपहर तक हर हाल में केंद्रों की सूची भेज दें। 



सभी जिलों से रिपोर्ट न मिलने के कारण परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव एनआइसी को रिपोर्ट नहीं दे पा रही हैं, जबकि 16 नवंबर तक परीक्षा नियामक प्राधिकारी को हर हाल में रिपोर्ट देनी थी। कहा जा रहा है कि गुरुवार शाम को रिपोर्ट भेजी जाएगी। असल में केंद्र निर्धारण जल्द पूरा कराने की वजह यह है कि परीक्षा 19 दिसंबर को होनी है। इसके पहले प्रवेश पत्र आदि तैयार होने हैं और उनमें केंद्र का नाम व कोड आदि पड़ेगा। इसमें समय लगेगा। यही नहीं परीक्षार्थियों को ऑनलाइन प्रवेश पत्र लेना होगा इसमें भी समय दिया जाना जरूरी है। रजिस्ट्रार नवल किशोर ने बताया कि सभी नौ जिलों को परीक्षा केंद्रों की रिपोर्ट भेजने के लिए प्रोफार्मा तक मुहैया कराया जा चुका है।


नौ जिलों के लिए अटकीं यूपीटीईटी की तैयारियां, अफसरों की मनमानी से परीक्षा तैयारियों में लगातार देरी, तय नहीं कर सके परीक्षा केंद्र Reviewed by Sona Trivedi on 8:01 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.