देशभक्ति की भावना प्रबल करने के लिए स्कूलों में सैन्य पाठ पढ़ाने और झंडा फहराने का सुझाव, केंद्र और राज्यों को शिक्षा पर सलाह देने वाली संस्था केब की बैठक में आया

नई दिल्ली :  बच्चों में देशभक्ति की भावना प्रबल करने के लिए स्कूलों में सैन्य पाठ पढ़ाने और झंडा फहराने का सुझाव दिया गया है। कुछ केंद्रीय मंत्रियों और भाजपा शासित राज्यों के मंत्रियों ने 25 अक्तूबर को केंद्रीय शिक्षा सलाहकार बोर्ड (केब) की बैठक में यह बात कही। केब केंद्र और राज्यों को शिक्षा पर सलाह देने वाली सबसे बड़ी संस्था है।

 

बैठक में मध्यप्रदेश के स्कूल शिक्षा राज्य मंत्री दीपक जोशी ने सुझाव दिया कि केंद्रीय और नवोदय विद्यालयों की अपेक्षा अधिक संख्या में सैनिक स्कूल खोले जाएं। सरकार देश की शिक्षा नीति में बदलाव के लिए निरीक्षण कर रही है। जोशी के सैन्य शिक्षा वाले सुझाव को केंद्रीय मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री महेंद्र नाथ पांडे ने भी दोहराया। खेल और युवा मामलों के मंत्री विजय गोयल ने भी पाठ्यक्रमों में देशभक्ति और राष्ट्रवाद को शामिल करने पर जोर दिया। गौरतलब है कि यह पहली बार नहीं है जब केंद्रीय मंत्रियों ने शिक्षा व्यवस्था में इस तरह बदलाव करने का सुझाव दिया हो।


मंत्रियों की ओर से दिए गए अन्य सुझावों में स्कूलों में राष्ट्र नायकों की गौरव गाथा पढ़ाने, बच्चों के लिए राष्ट्रगान गाना अनिवार्य करना शामिल है। मंत्रियों का मत है कि इससे बच्चों में नैतिकता और राष्ट्रभक्ति की भावना बढ़ेगी।

 

केब की बैठक में स्कूलों में शिक्षकों की कमी, कौशल विकास, योग को बढ़ावा देने, मिड डे मिल, छात्रों द्वारा पढ़ाई बीच में छोड़ने की बढ़ती दर और मातृभाषा में शिक्षा की संभावनाओं पर भी चर्चा की गई।

देशभक्ति की भावना प्रबल करने के लिए स्कूलों में सैन्य पाठ पढ़ाने और झंडा फहराने का सुझाव, केंद्र और राज्यों को शिक्षा पर सलाह देने वाली संस्था केब की बैठक में आया Reviewed by Sona Trivedi on 6:40 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.