आखिर बड़े अफसरों को देनी ही पड़ी लंबे समय से जमें बीईओ को मनचाही तैनाती, एक ही मंडल में दस वर्ष से जमे अधिकारियों को हटाने का था निर्देश

इलाहाबाद : लंबे समय से एक ही जगह जमे खंड शिक्षाधिकारियों (बीईओ) के तबादलों में अफसरों को ही झुकना पड़ा है। शासन की नीति के अनुरूप एक ही मंडल में दस साल से तैनात रहने वाले अधिकारियों को दूसरे मंडलों में भेजने का आदेश हुआ, लेकिन बड़ी संख्या बीईओ ने नहीं माना। करीब डेढ़ दर्जन बीईओ छह माह से ड्यूटी नहीं कर रहे हैं। उनमें से पांच को अब मनचाही तैनाती दी गई है और उनसे कार्यभार ग्रहण करने को कहा गया है।

वहीं बाकी बीईओ का आचार संहिता में फंसना तय माना जा रहा है। बेसिक शिक्षा परिषद के शिक्षकों की तर्ज पर विकासखंड मुख्यालयों में तैनात खंड शिक्षाधिकारियों का तबादला करने के लिए इस बार शासन के निर्देश पर नीति बनाई गई थी। हालांकि बाद में यह तय हुआ कि खंड शिक्षाधिकारियों के लिए अलग से नीति जारी नहीं की जाएगी, बल्कि शासन ने बीते मई में जो तबादला निर्देश जारी किए हैं उसके तहत फेरबदल होंगे।

शासन ने एक ही मंडल में दस वर्ष से जमे अधिकारियों को हटाने का निर्देश दिया था। इसी आदेश को खंड शिक्षाधिकारियों पर लागू किया गया। प्रदेश भर में ऐसे शिक्षाधिकारियों की तादाद 96 थी। चिन्हित अधिकारियों को दूसरे मंडलों में भेजने के लिए आदेश जारी हुए।

आखिर बड़े अफसरों को देनी ही पड़ी लंबे समय से जमें बीईओ को मनचाही तैनाती, एक ही मंडल में दस वर्ष से जमे अधिकारियों को हटाने का था निर्देश Reviewed by Praveen Trivedi on 8:08 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.