राष्ट्रीय/राज्य अध्यापक पुरस्कार के लिए शिक्षक-शिक्षिकाओं के नाम पांच फरवरी तक देना होगा जरूरी

⚫ उत्तर प्रदेश में राष्ट्रीय अध्यापक पुरस्कार के लिए 17 सामान्य व दो विकलांग तथा राज्य अध्यापक पुरस्कार के लिए 17 शिक्षक - शिक्षिकाओं का होगा चयन


लखनऊ । राष्ट्रीय/राज्य अध्यापक पुरस्कार के लिए प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालयों में पांच फरवरी तक शिक्षक-शिक्षिकाओं के नाम का अनुमोदन करना जरूरी है। उत्तर प्रदेश में राष्ट्रीय अध्यापक पुरस्कार के लिए 17 सामान्य व दो विकलांग तथा राज्य अध्यापक पुरस्कार के लिए 17 शिक्षक-शिक्षिकाओं का चयन किया जाना है। बेसिक शिक्षा निदेशक दिनेश बाबू शर्मा ने सभी मण्डलीय सहायक शिक्षा निदेशक (बेसिक) व बेसिक शिक्षा अधिकारियों को निर्देश जारी कर दिए हैं। पुरस्कार के लिए शिक्षक-शिक्षिकाओं की संख्या घट-बढ़ भी सकती है।


पुरस्कार के लिए किसी भी शिक्षक-शिक्षिका से आवेदन पत्र नहीं मांगा जाएगा। जनपद स्तर पर बेसिक शिक्षा अधिकारी, उप बेसिक शिक्षा अधिकारी व दो वरिष्ठ खण्ड शिक्षा अधिकारियों की समिति जिले के उत्कृष्ट शिक्षकों को चिन्हित करेगी। साथ ही उन्हें पुरस्कर के लिए चयनित करने के संबंध में उनके गुण-दोष तथा उत्कृष्ट कायरे की समीक्षा की जाएगी। इस दौरान शिक्षकों द्वारा शैक्षिक क्षेत्र में किए जा रहे उत्कृष्ट कायरे को भी ध्यान में रखा जाएगा। संस्तुति किए जाने के समय यह ध्यान रखा जाएगा कि शिक्षक प्राथमिक/उच्च प्राथमिक विद्यालयों में शिक्षण कार्य कर रहे हैं।


चिन्हित करते समय यह भी ध्यान में रखा जाएगा कि शिक्षिकाओं को भी पर्याप्त अवसर मिल सकें। इसके लिए सहायक अध्यापक के रूप में पन्द्रह वर्ष नियमित शिक्षण कार्य का अनुभव तथा प्रधान अध्यापक के रूप में 20 वर्ष का नियमित शिक्षण कार्य का अनुभव जरूरी है। विशिष्ट श्रेणी (विकलांग) के शिक्षकों (सहायक अध्यापक) के लिए शिक्षण कार्य का अनुभव दस वर्ष तथा प्रधानाचार्य के लिए पन्द्रह वर्ष का अनुभव होना जरूरी है।


भारत सरकार के राष्ट्रीय/राज्य अध्यापक पुरस्कार 2016 चयन की प्रक्रिया शुरू हो गई है। इसके लिए प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक शिक्षकों को कोई आवेदन नहीं करना होगा, बल्कि शिक्षा विभाग के अधिकारी खुद उनका चयन करेंगे। शिक्षा निदेशक बेसिक ने इस संबंध में गाइडलाइन जारी कर दी है और नए साल में प्रदेश भर के उम्दा शिक्षकों की सूची मांगी है।




 केंद्र सरकार हर वर्ष प्रदेश के शिक्षा क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान देने वाले शिक्षक राष्ट्रीय/राज्य अध्यापक पुरस्कार देती है। इस बार भी सूबे में 19 शिक्षकों यानी 17 सामान्य एवं दो विकलांग शिक्षकों का चयन होना है। शिक्षा निदेशक बेसिक दिनेश बाबू शर्मा ने बेसिक शिक्षा अधिकारी व मंडलीय सहायक शिक्षा निदेशक बेसिक को भेजे निर्देश में कहा है कि उत्कृष्ट शिक्षकों का चयन बीएसए, उप बेसिक शिक्षा अधिकारी व जिले के दो वरिष्ठतम खंड शिक्षा अधिकारियों की समिति करेगी। 

राष्ट्रीय/राज्य अध्यापक पुरस्कार के लिए शिक्षक-शिक्षिकाओं के नाम पांच फरवरी तक देना होगा जरूरी Reviewed by Praveen Trivedi on 9:38 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.