शिक्षक की मौत पर जताया आक्रोश, कार्य बहिष्कार कर संस्थानों व कार्यालयों में मनाया काला दिवस, बेसिक शिक्षामंत्री ने दस लाख की आर्थिक सहायता का दिया आश्वासन

☀ मौत से कांग्रेस खफा

लखनऊ : राजधानी में अपने हक की मांग कर रहे शिक्षकों पर पुलिसिया लाठी चार्ज से एक की मौत और कई घायल होने से कांग्रेस खफा है। कांग्रेस ने सरकार की आलोचना करते हुए लाठीचार्ज की निंदा की है। कांग्रेस के प्रदेश महामंत्री और प्रवक्ता द्विजेन्द्र त्रिपाठी ने सरकार से मांग की है कि मृत शिक्षक के परिवार को 20 लाख एवं घायल शिक्षकों को दो-दो लाख रुपये की आर्थिक सहायता तथा दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाए। गुरुवार को द्विजेन्द्र त्रिपाठी ने कहा कि लोकतंत्र में अ¨हसक तरीके से धरना-प्रदर्शन एवं सभा के जरिये सरकार तक अपनी आवाज पहुंचाना प्रत्येक संगठन एवं नागरिक का संवैधानिक हक है, किंतु प्रदेश सरकार अपनी असफलता छिपाने के लिए जिस तरह पुलिस बल के जरिये लोगों को आतंकित करने का काम कर रही है वह शर्मनाक ही नहीं, निंदनीय भी है। त्रिपाठी ने कहा कि लखनऊ में प्रदर्शन कर रहे शिक्षकों पर जिस तरह पुलिस द्वारा बर्बरता पूर्वक लाठी चार्ज किया गया, वह प्रदेश सरकार की विफलता और तानाशाही को उजागर करता है


लखनऊ : ऑल टीचर्स/ इम्प्लाइज वेलफेयर एसोसिएशन (अटेवा) पेंशन बचाओ मंच उत्तर प्रदेश के आह्वान पर गुरुवार को शिक्षण संस्थानों व कार्यालयों में कार्य बहिष्कार कर मृतक शिक्षक डॉ. रामाशीष सिंह को श्रद्धांजलि दी गई। शिक्षकों व कर्मचारियों ने काला दिवस मनाते हुए अटेवा पेंशन बचाओ मंच के प्रदेश अध्यक्ष विजय कुमार बंधु के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल ने गुरुवार को बेसिक शिक्षा मंत्री अहमद हसन से मुलाकात की। मंत्री ने भरोसा दिलाया कि वह मृतक शिक्षक के परिवार को दस लाख रुपये की आर्थिक मदद सरकार से उपलब्ध कराएंगे और जल्द सीएम अखिलेश यादव से पीड़ित परिवार की मुलाकात भी करवाएंगे। 


प्रदेश अध्यक्ष विजय कुमार बंधु ने कहा कि पुरानी पेंशन योजना को बहाल करने के आंदोलन के दौरान हमारे साथी डॉ. रामाशीष सिंह की पुलिस ने बर्बर हत्या की है। हम अपने साथी की शहादत को बर्बाद नहीं होने देंगे और यह आंदोलन अब तेजी पकड़ेगा। उप्र माध्यमिक शिक्षक संघ के अध्यक्ष व विधान परिषद में शिक्षक दल के नेता ओम प्रकाश शर्मा की अध्यक्षता में गुरुवार को शिक्षक विधायकों की एक आपात बैठक बुलाई गई और इसमें मृतक शिक्षक के परिवार के सदस्य को सरकारी नौकरी देने और उचित मुआवजा देने की मांग की गई। उप्र माध्यमिक शिक्षक संघ (चेतनारायण गुट) के आवाहन पर माध्यमिक स्कूलों में काला दिवस मनाया गया। कालीचरण इंटर कॉलेज के प्राचार्य डॉ. महेंद्र नाथ राय सहित शिक्षकों ने काली पट्टी बांधकर कार्य बहिष्कार किया और नारेबाजी की।


 उप्र विश्वविद्यालय-महाविद्यालय शिक्षक महासंघ ने मामले के दोषियों को सख्त से सख्त सजा देने की मांग की है। महामंत्री डॉ. विवेक द्विवेदी ने कहा कि राज्य सरकार ने अगर मामले में ठोस कार्रवाई नहीं की तो डिग्री कॉलेज शिक्षक कार्य बहिष्कार करेंगे। 


उधर,लखनऊ विश्वविद्यालय शिक्षक संघ (लूटा) के महामंत्री डॉ. दुर्गेश श्रीवास्तव, आल इंडिया रूलर्स बार एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष ज्ञान प्रकाश शुक्ला, माध्यमिक व्यावसायिक शिक्षक संघ के मंडल अध्यक्ष देशराज सिंह और उप्र अनुसूचित जाति प्राथमिक शिक्षक एसोसिएशन के प्रांतीय अध्यक्ष मिश्रीलाल यादव ने भी घटना की कड़े शब्दों में निंदा की है।

शिक्षक की मौत पर जताया आक्रोश, कार्य बहिष्कार कर संस्थानों व कार्यालयों में मनाया काला दिवस, बेसिक शिक्षामंत्री ने दस लाख की आर्थिक सहायता का दिया आश्वासन Reviewed by Sona Trivedi on 6:06 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.