920 रुपए में होगी स्कूल बैग की गुणवत्ता की जांच, शासन ने पांच एजेंसियों को दिए जांच के निर्देश, टेस्टिंग रिपोर्ट आई फेल तो बदलना होगा बैग

यदि सैंपल टेस्टिंग की रिपोर्ट संतोषजनक नहीं मिली तो संबंधित फर्म को 15 दिन के अंदर विकास खंड से दिए गए सभी स्कूल बैग वापस लेकर उतनी संख्या में दूसरे स्कूल बैग उपलब्ध कराने होंगे। इसकी जिम्मेदारी आपूर्तिकर्ता की होगी। इस पर आने वाला खर्च भी फर्म वहन करेगी।


लखनऊ (डीएनएन)। राजकीय, परिषदीय एवं सहायता प्राप्त विद्यालयों में कक्षा एक से आठ तक के बच्चों को दिए जाने वाले निशुल्क स्कूल बैग की गुणवत्ता की जांच की जाएगी। इसके लिए शासन ने 920 रुपए प्रति स्कूल बैग की दर से टेस्टिंग चार्ज निर्धारित कर दिया है। गुणवत्ता की जांच करने की जिम्मेदारी पांच एजेंसियों को सौंपी गई है। यह सभी गाजियाबाद, दिल्ली व आगरा की हैं। इस संबंध में उप शिक्षा निदेशक (प्राइमरी) अब्दुल मुबीन ने निर्देश जारी कर दिए हैं।



दरअसल, राज्य सरकार की ओर से राजकीय, सहायता प्राप्त एवं परिषदीय विद्यालयों में पढ़ने वाले कक्षा एक से आठ तक के छात्र-छात्राओं को फ्री स्कूल बैग वितरण शुरू हो गया है। इन छात्र-छात्राओं को जो स्कूल बैग दिया जा रहा है, उसकी कीमत 144.40 पैसे प्रति बैग है। इसकी वारंटी भी एक साल की होगी। यदि इसमें कोई भी डिफेक्ट होता है तो बैग वितरित करने वाली फर्म 30 दिन के अंदर दूसरे बैग उपलब्ध कराएगी। इसके लिए बैग देने वाली एजेंसी बैग का सैम्पल लेकर जांच करेगी। गौरतलब है कि अब राजधानी सहित प्रदेश भर के करीब पौने दो करोड़ बच्चों को छह मार्च तक बैग वितरित किया जाना है। इसके बाद बैग वितरित किए जाने पर शुल्क में कटौती की जाएगी।


920 रुपए में होगी स्कूल बैग की गुणवत्ता की जांच, शासन ने पांच एजेंसियों को दिए जांच के निर्देश, टेस्टिंग रिपोर्ट आई फेल तो बदलना होगा बैग Reviewed by Sona Trivedi on 9:38 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.