शिक्षकों से जुड़े कोर्स में प्रवेश के लिए भी एक ही राष्ट्रीय परीक्षा कराने की तैयारी, शिक्षा की गुणवत्ता सुधारने के लिए हो रही इस कवायद पर सैद्धांतिक सहमति

नई दिल्ली केंद्र सरकार मेडिकल-इंजीनियरिंग की तरह शिक्षकों से जुड़े कोर्स में प्रवेश के लिए भी एक ही राष्ट्रीय परीक्षा कराने की तैयारी में है। यह कदम शिक्षक कोर्स में योग्य उम्मीदवारों का चयन सुनिश्चित करने के लिए उठाया जा रहा है।




सैद्धांतिक सहमति:प्राथमिक शिक्षा की गुणवत्ता सुधारने के लिए हो रही इस कवायद पर सैद्धांतिक सहमति भी बन चुकी है। राष्ट्रीय शिक्षक अध्यापक परिषद (एनसीटीई) स्नातक एवं स्नातकोत्तर स्तर के कुल 15 शिक्षक प्रशिक्षण कोर्स चलाए जा रहे हैं। इनमें करीब 10 लाख सीटें हैं। सबसे ज्यादा सीटें बीएड की हैं। लेकिन इनमें आधी से अधिक सीटें खाली रह जाती हैं।




देश में अच्छे शिक्षकों की कमी की एक वजह लोगों के इस पेशे में आने के प्रति दिलचस्पी की कमी भी है। सरकार चाहती है कि परीक्षा के जरिये इसे प्रतिस्पर्धी और आकर्षक बनाए जाए।



राज्यों से बात होगी : सूत्रों के मुताबिक जल्द ही इस पर राज्यों से बात होगी। इस कोर्स में प्रवेश के लिए एकल परीक्षा को दो भागों में बांटा जा सकता है।

शिक्षकों से जुड़े कोर्स में प्रवेश के लिए भी एक ही राष्ट्रीय परीक्षा कराने की तैयारी, शिक्षा की गुणवत्ता सुधारने के लिए हो रही इस कवायद पर सैद्धांतिक सहमति Reviewed by Sona Trivedi on 7:31 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.