बच्चों के स्कूल बैग का बोझ होगा हल्का, मानव संसाधन विकास मंत्रालय इस संबंध में  नियम-कायदे तय करने जा रहा

नई दिल्ली : बस्ते के बोझ से परेशान स्कूली बच्चों के लिए राहत भरी खबर है। केंद्र सरकार स्कूल बैग को हल्का करने पर काम कर रही है। मानव संसाधन विकास मंत्रलय (एचआरडी) इस संबंध में सीबीएसई स्कूलों के लिए नियम-कायदे तय करने जा रहा है। एचआरडी मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बुधवार को इसकी जानकारी दी। 




सेंटर फॉर साइंस एंड एनवायरमेंट (सीएसई) के कार्यक्रम में उन्होंने कहा, ‘मैं स्कूल बैग का वजन कम करने जा रहा हूं..भारी बैग ढोना कतई जरूरी नहीं है। मंत्रलय सीबीएसई स्कूलों के लिए नियम बना रहा है, जिससे बच्चों को अनावश्यक किताबों और नोटबुक का बोझ न उठाना पड़े।’ सीबीएसई के मौजूदा निर्देश के अनुसार, दूसरी कक्षा के बच्चों के लिए स्कूल बैग लाना प्रतिबंधित है। कक्षा आठ तक के छात्रों के लिए सीमित मात्र में किताब लाने की व्यवस्था की गई है। एचआरडी मंत्रलय इसे और ज्यादा प्रभावी बनाने पर काम कर रहा है।




 जावड़ेकर ने छात्रों को दिए जाने वाले प्रोजेक्ट में भी बदलाव लाने की बात कही है। फिलहाल स्कूलों ने प्रोजेक्ट को पूरा करने में घर के वयस्क सदस्यों का सहयोग अनिवार्य कर दिया है। जावड़ेकर ने कहा कि वास्तविक शिक्षा वह है जिसमें बच्चे खुद से काम करें फिर चाहे उनसे गलती ही क्यों न हो। केंद्रीय मंत्री ने साथ ही पर्यावरण मंत्रलय के साथ मिलकर स्कूलों में ज्यादा से ज्यादा पेड़-पौधे लगाने की भी बात कही है।



बच्चों के स्कूल बैग का बोझ होगा हल्का, मानव संसाधन विकास मंत्रालय इस संबंध में  नियम-कायदे तय करने जा रहा Reviewed by Sona Trivedi on 6:28 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.