यूपीटीईटी  UPTET 2016 का रिजल्ट जारी, केवल 11 फीसद हुए पास, चुनाव आचार संहिता के चलते रुका था परिणाम

इलाहाबाद : उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (यूपी टीईटी) 2016 में शामिल होने वाले महज 11 फीसद युवा ही प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालयों में शिक्षक बनने के योग्य हैं। शुक्रवार शाम को जारी परीक्षा परिणाम में 89 प्रतिशत अभ्यर्थी फेल हो गए हैं। इम्तिहान में असफल होने वाले अभ्यर्थियों की तादाद सफल होने वाले युवाओं से चार गुना अधिक है। पिछले साल टीईटी में केवल 17 फीसद अभ्यर्थी सफल हो सके थे। 


⚫   उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा का परिणाम घोषित, मात्र 11 प्रतिशत अभ्यर्थी हुए उत्तीर्ण, अपना रिजल्ट यहाँ क्लिक करके देखें




परीक्षा नियामक प्राधिकारी उप्र की सचिव डा. सुत्ता सिंह ने बताया कि परीक्षा का परिणाम वेबसाइट पर अपलोड है इसे अभ्यर्थी अपना अनुक्रमांक भरकर देख सकते हैं। साथ ही परिणाम का प्रिंट आउट भी निकाल सकते हैं। यह परीक्षाफल वेबसाइट पर 17 अप्रैल शाम छह बजे तक उपलब्ध रहेगा। उन्होंने बताया कि परिणाम काफी पहले से तैयार था, लेकिन प्रदेश में विधानसभा चुनाव की आदर्श आचार संहिता लागू होने के कारण इसे रोका गया था। 




इलाहाबाद : प्रदेश के बेसिक शिक्षा परिषद के विद्यालयों में शिक्षक के रूप में नियुक्ति पाने के लिए युवाओं का टीईटी उत्तीर्ण होना अनिवार्य है। परीक्षा नियामक प्राधिकारी उप्र की सचिव ने शासन के निर्देश पर टीईटी 2016 की परीक्षा 19 दिसंबर 2016 को सूबे के 858 परीक्षा केंद्रों पर आयोजित हुई थी। इसमें सात लाख 55 हजार 889 अभ्यर्थियों को शामिल होना था, लेकिन 79 हजार 619 अभ्यर्थियों ने परीक्षा छोड़ दी थी। शेष छह लाख 76 हजार 270 अभ्यर्थियों का परिणाम शुक्रवार शाम को जारी किया गया है। सचिव डा. सुत्ता सिंह ने बताया कि प्राथमिक स्तर की परीक्षा में दो लाख 54 हजार 68 अभ्यर्थी पंजीकृत थे, जबकि दो लाख 21 हजार 654 परीक्षा में शामिल हुए। उनमें से 25 हजार 226 अभ्यर्थी (11.38 फीसद) उत्तीर्ण हुए हैं, वहीं एक लाख 96 हजार 428 फेल हो गए हैं। ऐसे ही उच्च प्राथमिक स्तर की परीक्षा में पांच लाख एक हजार 821 अभ्यर्थी पंजीकृत थे, जबकि चार लाख 54 हजार 616 अभ्यर्थी परीक्षा में शामिल हुए उनमें से 50 हजार 138 युवा (11.03 फीसद) उत्तीर्ण हुए हैं, वहीं चार लाख चार हजार 478 अभ्यर्थी फेल हो गए हैं।


यूपीटीईटी  UPTET 2016 का रिजल्ट जारी, केवल 11 फीसद हुए पास, चुनाव आचार संहिता के चलते रुका था परिणाम Reviewed by Sona Trivedi on 5:24 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.