शिक्षा व्यवस्था सुधारने के लिए करेंगे हर संभव प्रयास : बेसिक, उच्च, माध्यमिक, व्यावसायिक तथा प्राविधिक शिक्षा के प्रस्तुतिकरण के दौरान सीएम योगी ने जताया संकल्प

लखनऊ । उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि राज्य की शिक्षा व्यवस्था में काफी सुधार की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार इसे सुधारने के लिए हर सम्भव प्रयास करेगी। जहां एक तरफ यह प्रयास किया जाएगा कि सभी परीक्षाएं समय पर हों, वहीं दूसरी तरफ राज्य सरकार यह भी कोशिश करेगी कि नकल पर पूरी तरह से लगाम लगे। राज्य सरकार नकल करवाने वालों तथा ऐसे केन्द्रों पर सख्त कार्रवाई करेगी। दागी केन्द्रों को चिन्ह्ति कर उन्हें ब्लैक लिस्ट करने के साथ-साथ उनके खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कराई जाएगी।



मुख्यमंत्री ने यह विचार सोमवार को शास्त्री भवन में शिक्षा के संबंध में आयोजित एक प्रस्तुतिकरण में व्यक्त किए। इस प्रस्तुतिकरण में प्रदेश के उच्च शिक्षा, माध्यमिक शिक्षा, बेसिक शिक्षा, व्यावसायिक शिक्षा तथा प्राविधिक शिक्षा के परिदृश्य पर विस्तार से विचार-विमर्श किया गया। उन्होंने कहा कि हर हाल में यह सुनिश्चित किया जाए कि विद्यालयों में अधिकतम 200 दिन के अन्दर कोर्स पूरा कराया जाए। विद्यालयों में शिक्षकों की उपस्थिति की लगातार मॉनीटरिंग की जाए। सभी विद्यालयों में शिक्षकों तथा छात्रों की नियमित उपस्थिति बायोमीट्रिक्स के माध्यम से मॉनीटर की जाए। साथ ही, विद्यालयों में नियमित पढ़ाई सुनिश्चित की जाए। माध्यमिक शिक्षा पर दिए गए प्रस्तुतिकरण के दौरान योगी ने इस क्षेत्र में निजी स्कूलों/कॉलेजों द्वारा फीस के सम्बन्ध में की जा रही मनमानी वसूली पर रोक लगाने के लिए एक नियमावली बनाने के भी निर्देश दिए।




मुख्यमंत्री ने उच्च शिक्षा विभाग का प्रस्तुतिकरण देखते हुए निर्देश दिए कि राज्य स्तर पर सभी विश्वविद्यालयों में एक समान पाठ्यक्रम लागू करते हुए विश्वविद्यालयों, महाविद्यालयों के सत्रों को नियमित किया जाए और छात्रों का कोर्स समय से पूरा हो। व्यावसायिक शिक्षा के प्रस्तुतिकरण की मुख्यमंत्री ने प्रशंसा की और निर्देश दिए कि आईटीआई संस्थानों में पुराने ट्रेडों जैसे-रेडियो मैकेनिक आदि को समाप्त करके आधुनिक जरूरतों के अनुरूप नए ट्रेड शुरू किए जाएं। प्राविधिक शिक्षा विभाग के प्रस्तुतिकरण के दौरान योगी ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि बंदी के स्थिति में पहुंचे प्राइवेट इंजीनियरिंग कॉलेजों के संसाधनों का इस्तेमाल व्यावसायिक गतिविधि में करने से रोका जाना सुनिश्चित करें।




योगी ने बेसिक शिक्षा विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि आगामी 100 दिन में बेसिक शिक्षा में बेहतर बदलाव प्रत्येक दशा में दिखने चाहिए। उन्होंने कहा कि यह प्रत्येक दशा में सुनिश्चित कराया जाए कि आगामी जुलाई माह में 1 से 10 तारीख के अन्तराल में छात्रों को यूनिफॉर्म, पाठय-पुस्तकों एवं बैग का वितरण प्रत्येक दशा में सुनिश्चित हो जाए। उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित कराया जाए कि कोई भी बच्चा पढ़ने से छूटने न पाए। छात्रों को स्वच्छ पेयजल उपलब्ध होने के साथ-साथ विद्यालयों में शौचालयों की समुचित व्यवस्था सुनिश्चित हो। उन्होंने कहा कि बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ करने वालों को बख्शा नहीं जायेगा।

शिक्षा व्यवस्था सुधारने के लिए करेंगे हर संभव प्रयास : बेसिक, उच्च, माध्यमिक, व्यावसायिक तथा प्राविधिक शिक्षा के प्रस्तुतिकरण के दौरान सीएम योगी ने जताया संकल्प Reviewed by Sona Trivedi on 8:04 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.