किताब नहीं तो ई-पोथी से चलेगा काम, परिषदीय स्कूलों में पढ़ाई जाने वाली किताबों का इलेक्ट्रॉनिक संस्करण उपलब्ध


लखनऊ : परिषदीय स्कूलों में बच्चों को सरकार की ओर से मुफ्त में मिलने वाली किताबों के वितरण में लेटलतीफी का राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद ने तोड़ निकाला है। एससीईआरटी ने ‘ई-पोथी’ नामक मोबाइल एप विकसित किया है जो परिषदीय स्कूलों में पढ़ाई जाने वाली किताबों का इलेक्ट्रॉनिक संस्करण है।



ई-पोथी नामक यह मोबाइल एप http://scertup.co.in पर उपलब्ध है। यह मोबाइल एप स्मार्टफोन पर आसानी से खुलता है। लिहाजा परिषदीय स्कूलों के शिक्षक और बच्चों के अभिभावक स्मार्टफोन पर ई-पोथी खोलकर इन किताबों से बच्चों को पढ़ा सकते हैं। ई-पोथी पर अभी कक्षा चार से लेकर आठ तक की किताबें उपलब्ध है। बेसिक शिक्षा निदेशक ने बताया कि कक्षा एक से तीन तक की किताबों के इलेक्ट्रॉनिक संस्करण ई-पोथी पर इसलिए नहीं अपलोड किये गए क्योंकि तब उनका पुनरीक्षण किया जा रहा था। अब इन तीनों कक्षाओं की किताबों को भी ई-पोथी पर अपलोड करने की तैयारी है। ई-पोथी को तैयार करने के लिए बाहरी एजेंसी की मदद लिए बगैर एससीईआरटी ने प्रशिक्षण संस्थानों के स्टाफ और प्रशिक्षण ले रहे प्रशिक्षणार्थियों की मदद से इसे विकसित किया है।

किताब नहीं तो ई-पोथी से चलेगा काम, परिषदीय स्कूलों में पढ़ाई जाने वाली किताबों का इलेक्ट्रॉनिक संस्करण उपलब्ध Reviewed by Sona Trivedi on 5:47 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.