जिले के अंदर शिक्षकों का समायोजन 10 जुलाई के बाद शुरू होने की संभावना, सॉफ्टवेयर के माध्यम से सीधे स्कूल चुनने की मिलेगी स्वतंत्रता

सरकारी प्राइमरी स्कूलों में शिक्षकों के अंतरजनपदीय तबादले में फिलवक्त समय लगेगा। वहीं शिक्षकों का जिले के अंदर समायोजन 10 जुलाई के बाद ही शुरू होने की संभावना है। इसके बाद ही जिले के अंदर तबादले किए जाएंगे। इन दोनों के बाद ही अंतरजनपदीय तबादले किए जाने की योजना है। शासन व बेसिक शिक्षा परिषद के कई निर्देशों के बाद भी बेसिक शिक्षा अधिकारी शिक्षकों का सैलरी डाटा अपलोड नहीं कर पाए हैं।




सरप्लस शिक्षकों की संख्या व चिह्नांकन, जोनवार स्कूलों का बंटवारा और पैन व आधार नंबर भी अपलोड किया जाना है लेकिन ज्यादातर जिले ऐसे हैं जिन्होंने सौ फीसदी डाटा अपलोड नहीं किया है। इस पर बेसिक शिक्षा परिषद के सचिव संजय सिन्हा ने सभी बीएसए को निर्देश दिए हैं कि इस काम में देरी होने पर शासन स्तर पर नाराजगी है। इसे जल्द पूरा किया जाए। दरअसल शासन इस बार चरणबद्ध तरीके से शिक्षकों की तैनाती कर रहा है।




राज्य सरकार इस बात पर ध्यान दे रही है कि न तो कहीं सरप्लस शिक्षक रहें और न ही एकल शिक्षक वाले स्कूल रहे। सरकार की मंशा थी कि 30 जून तक जिलों के अंदर समायोजन पूरा कर लिया जाए और इसके बाद बची हुई रिक्तियों पर जिले के अंदर शिक्षकों का तबादला किया जाए लेकिन ऐसा नहीं हो पाया क्योंकि बीएसए इन सूचनाओं को वेबसाइट पर अपलोड करने में हीलाहवाली बरत रहे हैं। पहली बार बेसिक शिक्षा विभाग ने शिक्षकों के स्कूल आवंटन में बीएसए के दखल पर अंकुश लगाते हुए शिक्षक को सॉफ्टवेयर के माध्यम से सीधे स्कूल चुनने की स्वतंत्रता दी है।

जिले के अंदर शिक्षकों का समायोजन 10 जुलाई के बाद शुरू होने की संभावना, सॉफ्टवेयर के माध्यम से सीधे स्कूल चुनने की मिलेगी स्वतंत्रता Reviewed by Sona Trivedi on 7:47 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.