बेसिक स्कूलों के अच्छे शिक्षकों को विदेश में मिलेगी ट्रेनिंग, नामी- गिरामी स्कूलों में मिलेगा सीखने का मौका, मिलेगा कम्प्यूटर प्रशिक्षण

यूपी के बेसिक स्कूलों में अच्छा प्रदर्शन करने वाले शिक्षकों को सरकार अपने खर्च पर विदेश भेजेगी। इन सभी शिक्षकों को विदेश के नामी-गीरामी स्कूलों में ट्रेनिंग करवाई जाएगी। मुख्य सचिव राजीव कुमार ने इसके लिए बेसिक शिक्षा विभाग को कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने यह भी कहा है कि इस तरह के शिक्षकों की सूची बना ली जाए। मुख्य सचिव ने यह निर्देश शुक्रवार को बेसिक शिक्षा विभाग के साथ हुई समीक्षा बैठक में दिए।

प्राथमिक स्कूलों में मिलेगा कम्प्यूटर प्रशिक्षण : उन्होंने कहा कि सभी प्राथमिक विद्यालयों में कम्प्यूटर का प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसके लिए कम्प्यूटर में दक्ष शिक्षकों को स्कूलों में तैनात किया जाए या शिक्षकों को ही कम्प्यूटर की ट्रेनिंग दिलावाई जाए। मुख्य सचिव ने कहा कि विद्यालयों में तैनात सरप्लस शिक्षकों का समायोजन पारदर्शिता के आधार पर कराया जाए। 


प्राथमिक विद्यालयों में पढ़ने वाले सभी छात्रों को स्कूल बैग का वितरण अगस्त तक करवा लिया जाए। अगले वित्तीय वर्ष में छात्रों को मुफ्त पाठ्य पुस्तकें, जूता-मोजा, स्कूल बैग, यूनिफॉर्म और स्वेटर का वितरण समय से सुनिश्चित करा लिया जाए। - राजीव कुमार, मुख्य सचिव

छात्र-छात्राओं का विद्यालयों में शत-प्रतिशत नामांकन कराते हुए शिक्षकों की उपस्थिति भी सुनिश्चित कराई जाए। मुख्य सचिव ने कहा कि हाउस होल्ड सर्वे में आउट ऑफ स्कूल पाए गए 25,887 छात्रों का नामांकन सम्बन्धित विद्यालयों में करवाए जाने की प्रक्रिया में तेजी लाई जाए। 

इसके साथ ही आउट ऑफ स्कूल छात्रों का छह महीने का ब्रिज कोर्स कराकर विशेष प्रशिक्षण सितम्बर महीने के पहले सप्ताह से जरूर शुरू करा दिया जाए। उन्होंने कहा कि विशेष आवश्यकता वाले बच्चों के लिए दस महीने का 95 आवासीय लर्निंग कैम्प का संचालन एक अगस्त से शुरू कराने के लिए सम्बन्धित जिलों को नियमानुसार धनराशि अवमुक्त करा दी जाए।

छात्रों का आधार में हो पंजीकरण
बैठक में कहा गया कि सभी प्राथमिक विद्यालयों के छात्रों का आधार में पंजीकरण करा लिया जाए। यहां बताया गया कि बेसिक शिक्षा विभाग के 1.52 करोड़ छात्र-छात्राओं के सापेक्ष अब तक 62 लाख छात्रों को आधार से लिंक किया जा चुका है।  मुख्य सचिव ने कहा कि हर जिले में आधार पंजीकरण कराने के लिए अभियान चलाया जाए। बैठक में अपर मुख्य सचिव बेसिक शिक्षा आरपी सिंह समेत कई अधिकारी मौजूद थे।

विडियो कॉन्फ्रेंसिंग से हो मॉनिटरिंग : मुख्य सचिव ने कहा कि राज्य स्तर पर मंडलीय और जिला शिक्षा अधिकारियों और जिला समन्वयकों के साथ नियमित मासिक बैठक कर आवश्यकतानुसार विडियो कॉन्फ्रेंसिंग कर ली जाए। इसके लिए लगातार मॉनिटरिंग भी की जाए।


बेसिक स्कूलों के अच्छे शिक्षकों को विदेश में मिलेगी ट्रेनिंग, नामी- गिरामी स्कूलों में मिलेगा सीखने का मौका, मिलेगा कम्प्यूटर प्रशिक्षण Reviewed by Sona Trivedi on 7:31 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.