चेतावनी और अपील रही बेअसर, शिक्षामित्रों का आंदोलन रहा चौथे दिन जारी, सदमे से शिक्षामित्र की मौत, हजारों स्कूल अब भी चल रहे बंद

चेतावनी और अपील रही बेअसर, शिक्षामित्रों का आंदोलन रहा चौथे दिन जारी, सदमे से शिक्षामित्र की मौत, हजारों स्कूल अब भी चल रहे बंद।


इलाहाबाद : मुख्यमंत्री व प्रदेश सरकार के मंत्रियों की अपील भी बेअसर हो गई है। समायोजन रद होने से खफा शिक्षामित्रों का लगातार चौथे दिन कार्य बहिष्कार व आंदोलन जारी रहा। सूबे के हजारों स्कूलों में ताले लटकते रहे, पठन-पाठन ठप करके शिक्षामित्र लगातार आंदोलन को धार दे रहे हैं। बीआरसी केंद्रों से लेकर मंत्री व सांसद, विधायकों के आवासों का घेराव, बीएसए कार्यालय में तालाबंदी, सड़क जाम और धरना-प्रदर्शन चल रहा है। संगठन के नेताओं ने आगे भी आंदोलन जारी रखने का एलान किया है। साथ ही मुख्यमंत्री से पूछा है कि वह अब किस रूप में विद्यालय जाएं। 



लखनऊ क्षेत्र में हजारों विद्यालयबंद रहे। गोंडा के तरबगंज के पुरैनी स्कूल बंद कराने का अध्यापकों ने विरोध किया तो उनसे अभद्रता की गई। आक्रोशित ग्रामीणों ने शिक्षामित्रों को दौड़ा लिया। बहराइच में बीएसए कार्यालय पर तालाबंदी रही। बाराबंकी में सांसद प्रियंका सिंह रावत का आवास घेरा। लखीमपुर में 595 स्कूल बंद रहे। बलरामपुर कलेक्ट्रेट में एक शिक्षामित्र बेहोश हो गया। गोरखपुर में शहर शनिवार को शांत रहा, जबकि प्रदेश के अन्य जिलों में प्रदर्शन जारी रहा।




शिक्षामित्र की से मौत, पति ने फांसी लगाई : पश्चिमी उप्र में आंदोलन जारी है। मथुरा के नौहझील क्षेत्र के बरौठ स्कूल के शिक्षामित्र उदय सिंह की हार्टअटैक से मौत हो गई। एटा में शिक्षामित्र माधुरी दुबे के पति अनिल ने फांसी लगा ली। समय रहते उन्हें फंदे से उतार लिया गया। 

⚫ समायोजन रद होने के विरोध में आंदोलन चौथे दिन भी जारी

⚫ पूरब से पश्चिमी उप्र तक हजारों स्कूल बंद, पठन-पाठन चौपट


चेतावनी और अपील रही बेअसर, शिक्षामित्रों का आंदोलन रहा चौथे दिन जारी, सदमे से शिक्षामित्र की मौत, हजारों स्कूल अब भी चल रहे बंद Reviewed by Praveen Trivedi on 6:51 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.