2013 के बैच वालों से पांच से दस हजार मांग रहे कालेज, बीटीसी में प्रैक्टिकल का नम्बर देने के लिए हो रही वसूली


इलाहाबाद वरिष्ठ संवाददाताबीटीसी प्रशिक्षुओं से प्रैक्टिकल के नंबर देने के नाम पर निजी कॉलेज मनमानी वसूली कर रहे हैं। बीटीसी 2013 अंतिम सेमेस्टर के प्रशिक्षुओं से पांच-दस हजार रुपये से लेकर एक लाख रुपये तक वसूली की शिकायत मिल रही है।गाजीपुर, हाथरस, मिर्जापुर, रामपुर, इटावा, फिरोजाबाद, आजमगढ़, कानपुर, अमेठी समेत कई अन्य जिलों में निजी बीटीसी कॉलेज के प्रबंधकों ने प्रशिक्षुओं के मूल रिकार्ड रखवा लिए हैं। नंबर अपलोड नहीं करने के कारण ही रिजल्ट में भी देरी हो रही है।कॉलेज प्रबंधन रुपये नहीं देने पर प्रैक्टिकल का नंबर परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय को नहीं भेजने की धमकी देते हैं। करियर के लिए कुछ गरीब छात्र कर्ज लेकर रुपये दे रहे हैं। कुछ दिन पहले इलाहाबाद के एक निजी कॉलेज ने प्रशिक्षुओं का एडमिट कार्ड रोक लिया था। जिससे क्षुब्ध होकर एक छात्र नैनी पुल पर चढ़ गया था। प्रशासन के हस्तक्षेप के बाद बाद ही उसका एडमिट कार्ड मिला था। निजी कॉलेजों की वसूली के खिलाफ कई बार प्रशिक्षु इलाहाबाद में ही प्रदर्शन कर चुके हैं लेकिन जांच के नाम पर मामला दबा दिया जाता है।तीसरी काउंसिलिंग में प्रवेश लेने वाले परेशान : बीटीसी 2013 बैच का प्रवेश तीन चक्र की काउंसिलिंग से हुआ था। पहली और दूसरी काउंसिलिंग के युवाओं का प्रशिक्षण मई 2016 में ही पूरा हो चुका है जबकि तीसरी काउंसिलिंग के तकरीबन आठ हजार प्रशिक्षुओं का परिणाम जारी होना बाकी है। इनकी चतुर्थ सेमेस्टर की परीक्षा 6 से 8 जुलाई के बीच हुई थी लेकिन परीक्षा नियामक प्राधिकारी की ओर से अब तक डायट एवं निजी संस्थानों से आन्तरिक मूल्यांकन कराने के आदेश नहीं दिए गए हैं।


प्रैक्टिकल के नंबर देने के लिए यदि कोई निजी बीटीसी कॉलेज रुपये मांग रहा है तो यह गंभीर मामला है। लिखित शिकायत मिलने पर जांच कर कॉलेज की संबद्धता समाप्त करने की संस्तुति करेंगे।-सुत्ता सिंहसचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी

2013 के बैच वालों से पांच से दस हजार मांग रहे कालेज, बीटीसी में प्रैक्टिकल का नम्बर देने के लिए हो रही वसूली Reviewed by Flipkart Amazon on 7:48 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.