यूपीटीईटी-2017 का प्रश्नपत्र होगा सख्त व स्टैंडर्ड,  अगली टीईटी परीक्षा होगी राष्ट्रीय स्तर पर

 

पौने दो लाख शिक्षामित्रों के लिए बुरी खबर है कि उनको टीईटी-2017 की 15 अक्टूबर को होने वाली परीक्षा में सरल प्रश्न यानी कि क से कबूतर, ख से खरगोश जैसे प्रश्न नहीं पूछे जायेगें बल्कि उन्हें आम परीक्षार्थियों की तरह टीईटी के लिए आवेदन करना होगा। उसमें किसी भी प्रकार का सरलीकरण या सुधार नहीं होगा बल्कि परीक्षा सख्त और स्टैण्र्डडप्रश्नपत्र से होगी। इस परीक्षा में करीब 10 लाख अभ्यर्थियों के शामिल होने की संभावना है। सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय उत्तर प्रदेश, इलाहाबाद ने सोमवार की देर शाम टीईटी-2017 का कार्यक्रम जारी कर दिया। इसके तहत अभ्यर्थियों से 25 अगस्त से आनलाइन आवेदन लिया जायेगा और 15 अक्टूबर को परीक्षा होगी। इस दौरान तैयारियां पूरी हो गयी है।




सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी के यहां से बीटीसी के फाइनलसेमेस्टर के 81500 अभ्यर्थियों और शिक्षामित्रों के करीब दो लाख अभ्यर्थियों सहित लगभग 10 लाख परीक्षार्थियों की परीक्षा को लेकर तैयारियां चल रही है। सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी उत्तर प्रदेश, इलाहाबाद डा. श्रीमती एस सिंह ने कहा कि प्रश्नपत्रों का मानक पहले की तरह स्टैण्र्डडरहेगा।उन्होंने कहा कि प्रश्नपत्र इतना अधिक कठिन भी नहीं होता है कि कोईउत्तर न दे सके। सचिव ने अभ्यर्थियों से कहा कि वे आनलाइन आवेदन करने के बाद परीक्षा की तैयारियां मन लगाकर करें।



अगली टीईटी राष्ट्रीय स्तर पर कराने की तैयारी : अगले वर्षअप्रैल- 2018 में होने वाली टीईटी प्रदेश स्तर न होकर राष्ट्रीय स्तर पर कराये जाने की तैयारियां शुरू हो गयी है।इसके लिए मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने देश के सभी प्रदेशों के सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी से अपनी-अपनी राय सहित अन्य जाकारियां मांगी है।इसमें देश भर के लिए एक प्रश्नपत्रहोगा। फर्क सिर्फ यह होगा कि प्रदेश के अनुसार टीईटी प्रश्नपत्र की भाषा बदलती जायेगी। इस टीईटी में चार वर्ग-ए, बी, सी और डी में प्रश्नपत्र होंगे। सभी का जवाब देना होगा।चारों वगरे में अभ्यर्थी को कम से कम 33 फीसदी अंक पाने पर ही अभ्यर्थी को सफल माना जायेगा। श्रीमती डा. सिंह का कहना है कि इस मामले को लेकर करीब छह माह पहले मानव संसाधन विकास मंत्रालय के निर्देश पर लखनऊमें परीक्षा से संबंधित अन्य विभाग के अफसरों के साथ बैठक हो चुकी है।मेरी तरफसे प्रस्ताव भी भेजा जा चुका है।

यूपीटीईटी-2017 का प्रश्नपत्र होगा सख्त व स्टैंडर्ड,  अगली टीईटी परीक्षा होगी राष्ट्रीय स्तर पर Reviewed by Sona Trivedi on 8:09 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.