शिक्षामित्रों को भारांक देने से नहीं होगा नुकसान , यूपी सरकार के मंत्री ने दिया आश्वासन, टेट पास बीटीसी धारकों द्वारा किया गया था बीजेपी दफ्तर का घेराव

सहायक अध्यापकों के 75000 पदों पर भर्ती की मांग को लेकर संघर्ष कर रहे टीईटी पास बीटीसी धारकों ने शिक्षा मित्रों को भर्ती प्रक्रिया में 25 अंक का भारांक देने को अन्याय बताया। इसके विरोध में उन्होंने मंगलवार को भाजपा कार्यालय का घेराव किया। बीटीसी ट्रेनी वेलफेयर एसोसिएशन के बैनर तले बीती 28 जून से भर्ती शुरू करने की मांग को लेकर टीईटी पास बीटीसी धारक लक्ष्मण मेला मैदान में धरना दे रहे हैं। प्रदेश सरकार की ओर से शिक्षा मित्रों को भारांक देने के विरोध में वे भाजपा कार्यालय के बाहर पहुंच गए। प्रशिक्षितों को पुलिस ने समझाबुझाकर जीपीओ पार्क भेज दिया।

प्रदर्शनकारियों की अगुवाई कर रहे मोहम्मद अरशद ने कहा कि पूर्व की सपा सरकार ने शिक्षा मित्रों को अवैध नियम बनाकर सहायक अध्यापक के पद पर समायोजित कर दिया था, जिसे सुप्रीम कोर्ट ने अवैध घोषित कर दिया। अब भाजपा सरकार भी सपा की नीतियों पर चलते हुए शिक्षा मित्रों को भर्ती प्रक्रिया में 25 अंकों का भारांक देने जा रही है। ये टीईटी पास बीटीसी धारकों के साथ अन्याय है। भर्ती प्रक्रिया में शिक्षा मित्र बीटीसी धारकों से आगे हो जाएंगे और बीटीसी धारक मुकाबले से बाहर हो जाएंगे। इस मौके पर मंदीप सिंह चौहान, सौरभ आजमी, अंबरीश तिवारी, आकाश यादव, आशीष गुप्ता, सौरभ, संजय मौजूद रहे।


बीटीसी अभ्यर्थियों को नहीं होगा नुकसान : डॉ. महेन्द्र ग्राम्य विकास राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ. महेन्द्र सिंह ने कहा कि बेसिक शिक्षा विभाग में सहायक अध्यापक भर्ती में बीटीसी अभ्यर्थी और शिक्षा मित्र दोनों शामिल होंगे। वरीयता में जो आगे होगा उसे नौकरी मिलेगी। इस मामले में न तो बीटीसी अभ्यर्थियों को कोई नुकसान होगा, न ही शिक्षा मित्रों के साथ अन्याय होगा। मंगलवार को प्रदेश भाजपा मुख्यालय में जनसुनवाई के बाद पत्रकारों से बातचीत में डॉ. महेन्द्र सिंह ने कहा, बीटीसी अभ्यर्थी सहायक अध्यापक भर्ती में दखलंदाजी नहीं करने की बात कर रहे हैं लेकिन सरकार सुप्रीम कोर्ट के आदेश के तहत काम कर रही है। बीटीसी अभ्यर्थियों को सोचना चाहिए 10-15 वर्षों से काम कर रहे शिक्षा मित्रों को सहायक अध्यापक पद से हटाया गया है। सरकार कोर्ट के आदेश से ही शिक्षा मित्रों को आयु सीमा में छूट और भारांक दे रही है। कहा कि सहायक अध्यापक पद की भर्ती प्रक्रिया में बीटीसी अभ्यर्थी और शिक्षा मित्र दोनों शामिल होंगे। जो परीक्षा पास करेगा, उसे नौकरी मिलेगी।

शिक्षामित्रों को भारांक देने से नहीं होगा नुकसान , यूपी सरकार के मंत्री ने दिया आश्वासन, टेट पास बीटीसी धारकों द्वारा किया गया था बीजेपी दफ्तर का घेराव Reviewed by Sona Trivedi on 7:35 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.