बेसिक शिक्षा के पूर्व सचिव, महराजगंज के तत्कालीन बीएसए और लेखाधिकारी के खिलाफ जांच का आदेश, सचिव पर सरकारी धन हड़पने के दोषी अधिकारियों को बचाने का आरोप


इलाहाबाद : इलाहाबाद हाईकोर्ट ने मुख्य सचिव को पूर्व बेसिक शिक्षा सचिव रहे अजय कुमार सिंह, महाराजगंज के तत्कालीन बेसिक शिक्षा अधिकारी हूजी प्रसाद व लेखाधिकारी सूर्यप्रसाद के खिलाफ जांच कर रिपोर्ट दाखिल करने का निर्देश दिया है।  तत्कालीन बेसिक शिक्षा सचिव पर सरकारी धन हड़पने के दोषी अधिकारियों को बचाने का आरोप है।



कोर्ट ने कहा है कि लापरवाह अधिकारियों पर कार्रवाई की जाए, ताकि दूसरे अधिकारियों को सबक मिल सके। याचिका पर सुनवाई अब चार सितंबर को होगी। कोर्ट ने कहा कि सचिव स्तर का अधिकारी यदि आरोपियों को बचाने का प्रयास करेगा तो आम लोगों को शासन पर क्या विश्वास रह जाएगा। कोर्ट ने अब मुख्य सचिव से इस मामले में व्यक्तिगत हलफनामा मांगा है, यह आदेश न्यायमूर्ति अरुण टंडन तथा न्यायमूर्ति ऋतुराज अवस्थी की खंडपीठ ने हर्षवर्धन की जनहित याचिका पर दिया है।





मालूम हो कि सर्व शिक्षा अभियान के तहत लखनऊ चिनहट की कैरियर एजुकेशन वेलफेयर सोसायटी के खाते में 21 दिसंबर, 2009 को 98 लाख से अधिक रुपये जमा किए गए थे। इसकी शिकायत हुई तो जांच के बाद तत्कालीन जिलाधिकारी ने जमा रकम वापस करने का आदेश दिया, जिसके बाद 26 मार्च 2010 को 97 लाख वापस हुए, जबकि 73 हजार 175 रुपये की वसूली नहीं की गयी।

बेसिक शिक्षा के पूर्व सचिव, महराजगंज के तत्कालीन बीएसए और लेखाधिकारी के खिलाफ जांच का आदेश, सचिव पर सरकारी धन हड़पने के दोषी अधिकारियों को बचाने का आरोप Reviewed by Sona Trivedi on 6:53 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.