पंजीकरण के आधार पर न हो यूपीटीईटी 2017 के परीक्षा केंद्र का आवंटन, इम्तिहान की शुचिता को लेकर अभ्यर्थी परेशान, रुपये लेकर पास कराने के आरोपों के बीच नियामक प्राधिकारी का सही ढंग से आयोजन का भरोसा

इलाहाबाद : उप्र शिक्षक पात्रता परीक्षा यानी यूपी में आवेदन अंतिम चरण में हैं और परीक्षा की तैयारियां तेजी से चल रही हैं। ऐसे में इम्तिहान की शुचिता को लेकर मेधावी अभ्यर्थी खासे परेशान हैं, क्योंकि उन्हें तरह-तरह की सूचनाएं विभिन्न जिलों से मिल रही हैं। खासकर पंजीकरण के आधार पर परीक्षा केंद्र का आवंटन उनकी सबसे बड़ी परेशानी है। आमतौर पर एक साथ पंजीकरण कराने वालों को परीक्षा एक केंद्र एक ही आसानी से आवंटित होता रहा है।



टीईटी में परीक्षा केंद्र आवंटन का आधार पंजीकरण रहा है। इसको ध्यान में रखकर इस बार अभ्यर्थियों ने एक साथ ही रजिस्ट्रेशन कराया है। परीक्षा में नकल रोकने के लिए मेधावी अभ्यर्थियों ने परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव को ज्ञापन सौंपा है इसमें कहा गया है कि परीक्षा केंद्र पंजीकरण के आधार पर आवंटित न किया जाए, बल्कि केंद्र निर्धारण का आधार दूसरा बनाया जाए, इससे नकल होने की संभावनाओं पर विराम लग जाएगा। तमाम अभ्यर्थियों ने एक साथ पंजीकरण कराया है, ताकि उनका अनुक्रमांक भी उसी क्रम में जारी हो। परीक्षा में आगे व पीछे परिचित अभ्यर्थी होने से इम्तिहान की शुचिता पर प्रभाव पड़ने से रोकना कठिन होगा।



ज्ञापन में यह भी कहा गया है कि टीईटी उत्तीर्ण कराने का इस बार प्रदेश में मानों धंधा बन गया है इसमें तमाम ऐसे अभ्यर्थियों ने भी दावेदारी की है, जिन्होंने बीटीसी या फिर बीएड किया ही नहीं है। वह चहेतों को उत्तीर्ण कराने के लिए परीक्षा में शामिल होने की तैयारी में हैं। यह परीक्षा उत्तीर्ण कराने की गारंटी के तहत दस हजार से एक लाख रुपये तक वसूले जा रहे हैं।



मेधावियों ने ज्ञापन में यह भी आरोप लगाया है कि प्रदेश की डायट जैसी बड़ी संस्थाएं परीक्षा की तैयारी करा रही हैं। वहां के शिक्षक अभ्यर्थियों से सुविधा शुल्क वसूल रहे हैं और इम्तिहान में उत्तीर्ण कराने का भरोसा दे रहे हैं। यदि अनुक्रमांक आवंटन का आधार (पंजीकरण को छोड़कर) बदल जाएगा तो इस गोरखधंधे पर अंकुश लगना तय है और परीक्षा सकुशल होगी।


परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव डा. सुत्ता सिंह ने कहा कि इस मामले की वह गोपनीय जांच कराएंगी और परीक्षा में शुचिता बनाए रखने का हर संभव प्रयास कर रही हैं।


पंजीकरण के आधार पर न हो यूपीटीईटी 2017 के परीक्षा केंद्र का आवंटन, इम्तिहान की शुचिता को लेकर अभ्यर्थी परेशान, रुपये लेकर पास कराने के आरोपों के बीच नियामक प्राधिकारी का सही ढंग से आयोजन का भरोसा Reviewed by Sona Trivedi on 8:53 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.