यूपीटेट में नकल किया तो हमेशा के लिए होंगे ब्लैक लिस्ट, परिणाम भी होगा रद्द, प्रदेश स्तरीय समीक्षा बैठक में दिए गए कड़े निर्देश

लखनऊ : शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) में अगर कोई अभ्यर्थी नकल करते पकड़ा गया या फिर गड़बड़ी करते पकड़ा गया तो वह परीक्षा से हमेशा के लिए ब्लैक लिस्ट कर दिया जाएगा। 15 अक्टूबर को आयोजित होने वाली टीईटी की तैयारियों के लिए बुधवार को कलेक्ट्रेट में जिला प्रशासन और शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश स्तरीय समीक्षा बैठक में भाग लिया।

टीईटी अभ्यर्थी परीक्षा केंद्र पर मोबाइल नहीं ला सकेंगे। राजधानी में पहली पाली में 11 केंद्रों पर प्राइमरी स्तर की टीईटी में करीब 6800 अभ्यर्थी और दूसरी पाली में 38 केंद्रों पर पूर्व माध्यमिक स्तर की टीईटी में 20764 अभ्यर्थी शामिल होंगे। परीक्षा केंद्र पर एक कमरे में केवल 30 अभ्यर्थी ही बैठाए जाएंगे। जिला विद्यालय निरीक्षक डॉ. मुकेश कुमार सिंह ने बताया कि प्रवेश पत्र के साथ अभ्यर्थी आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट या फिर मतदाता पहचान पत्र में से कोई एक पहचान पत्र और पिछले वर्ष की मार्कशीट जरूर लेकर आए वरना उसे परीक्षा में नहीं बैठने दिया जाएगा।

परीक्षा केंद्र के आधा किलोमीटर इर्द-गिर्द फोटोकापी की दुकानें नहीं खोली जाएंगी। परीक्षा केंद्रों पर पर्याप्त पुलिस फोर्स रहेगी। केंद्र व्यवस्थापक के साथ-साथ दो अन्य अधिकारी भी निगरानी करेंगे। कक्ष निरीक्षकों को सख्त निर्देश दिए गए हैं कि वह अपने साथ पहचान पत्र लेकर आएंगे। अगर उनकी ओर से कोई लापरवाही हुई तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

यूपीटेट में नकल किया तो हमेशा के लिए होंगे ब्लैक लिस्ट, परिणाम भी होगा रद्द, प्रदेश स्तरीय समीक्षा बैठक में दिए गए कड़े निर्देश Reviewed by Master's Review on 7:05 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.