यूपीटीईटी 2017 की उत्तरकुंजी में और बदलाव के आसार, आपत्तियों पर परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव गंभीर, दूसरे विशेषज्ञों से इसकी पड़ताल हो रही


इलाहाबाद : उप्र शिक्षक पात्रता परीक्षा यानी यूपी टीईटी 2017 के परीक्षार्थियों के राहत भरी खबर है, जिन अभ्यर्थियों ने प्रश्नों के वाजिब जवाब न होने पर उत्तरकुंजी पर आपत्तियां की हैं। उनकी आपत्तियों पर परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव गंभीर हैं और दूसरे विशेषज्ञों से इसकी पड़ताल करा रही हैं। संभव है कि उत्तरकुंजी में अभी और बदलाव होगा। परीक्षार्थियों की आपत्ति सही मिलने पर अंतिम उत्तरकुंजी भी जारी होने के संकेत दिए गए हैं।

■ आपत्तियों पर दूसरे विशेषज्ञों की ली जा रही सलाह
■ नियामक प्राधिकारी सचिव ने कहा अंतिम उत्तरकुंजी हो सकती जारी

यूपी टीईटी 2017 प्राथमिक व उच्च प्राथमिक की परीक्षा 15 अक्टूबर को हुई थी। परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव ने इसके दो दिन बाद ही 18 अक्टूबर को उत्तरकुंजी जारी करके उस पर आपत्तियां ई-मेल के जरिये मांगी थी। बड़ी संख्या में परीक्षार्थियों ने प्रश्नों के जवाब पर साक्ष्य सहित आपत्तियां की हैं। उन आपत्तियों का विशेषज्ञों से परीक्षण कराया गया और बीते छह नवंबर को संशोधित उत्तर कुंजी वेबसाइट पर जारी हुई। इसमें परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव की ओर से दावा किया गया कि दो प्रश्नों उर्दू व संस्कृत के जवाब गलत मिले हैं।

ऐसे में यह प्रश्न करने वाले अभ्यर्थियों को समान अंक मिलेंगे। इसी बीच कीडगंज की कमलजीत कौर ने संशोधित उत्तरकुंजी में बाल मनोविज्ञान का एक प्रश्न का उत्तर बदलने की लिखित शिकायत की। इसे ‘दैनिक जागरण’ ने प्रमुखता से प्रकाशित किया। साथ ही अन्य अभ्यर्थी भी दूसरे प्रश्नों के उत्तर को लेकर आए दिन शिकायत कर रहे हैं।

यूपीटीईटी 2017 की उत्तरकुंजी में और बदलाव के आसार, आपत्तियों पर परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव गंभीर, दूसरे विशेषज्ञों से इसकी पड़ताल हो रही Reviewed by Praveen Trivedi on 7:01 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.