विज्ञान और गणित के शिक्षकों को 20 दिसम्बर तक कार्यभार ग्रहण कराने का आदेश, रिक्त पदों पर काउंसिलिंग की मांग

इलाहाबाद : बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालयों में नियुक्तियों की प्रक्रिया फिर चल पड़ी है। परिषद सचिव ने उच्च प्राथमिक विद्यालयों में विज्ञान-गणित शिक्षक के रूप में चयनित शिक्षकों को कार्यभार ग्रहण कराने का आदेश बेसिक शिक्षा अधिकारियों को दिया है। यह प्रक्रिया 20 दिसंबर तक पूरी करने को कहा गया है।


★ क्लिक करके देखें खबर से संबंधित आदेश :
परिषदीय उच्च प्राथमिक विद्यालयों में 29334 शिक्षक भर्ती के अंतर्गत विज्ञान/गणित विषय के स0अ0 को नियुक्ति के उपरांत कार्यभार ग्रहण कराये जाने के सम्बंध में सचिव बेसिक शिक्षा परिषद का आदेश जारी


परिषद के उच्च प्राथमिक विद्यालयों में 29334 विज्ञान-गणित शिक्षकों का कई दौर की काउंसिलिंग के बाद चयन हुआ है। जिलों में तमाम अभ्यर्थी ऐसे हैं, जिनका चयन हुआ और नियुक्ति पत्र भी मिल गया है लेकिन, वह कार्यभार ग्रहण नहीं कर सके हैं। ऐसे शिक्षकों ने पिछले दिनों हाईकोर्ट की भी शरण ली थी। असल में परिषद सचिव संजय सिन्हा ने 30 दिसंबर 2016 को सभी बीएसए को निर्देश दिया था कि वह 10 जनवरी 2017 तक कार्यभार ग्रहण कराने की कार्यवाही पूरी करा दें। उसी दौरान विधानसभा चुनाव की आचार संहिता और उसके बाद भर्तियों पर लगी रोक के कारण यह प्रक्रिया रुकी रही। ऐसे अभ्यर्थियों को अब कार्यभार ग्रहण कराने का निर्देश हुआ है। सचिव ने बेसिक शिक्षा अधिकारियों को भेजे आदेश में कहा है कि 30 दिसंबर 2016 के आदेश के तहत जिन अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र दिया जा चुका है लेकिन, वह कार्यभार ग्रहण नहीं कर सके हैं, उन्हें तत्काल कार्यवाही करते हुए नियमानुसार कार्यभार ग्रहण करा दें।


रिक्त पदों पर काउंसिलिंग की मांग
विज्ञान-गणित शिक्षकों की भर्ती में रिक्त पदों पर काउंसिलिंग की भी मांग की है लेकिन, निर्देश जारी नहीं हुआ है। परिषद ने तमाम ऐसे अभ्यर्थियों को भी लंबे समय बाद काउंसिलिंग में शामिल होने का अतिरिक्त मौका दिया है, जबकि बीएसए यह निर्देश दे चुके थे कि तय तारीख तक ज्वाइन न करने पर उनका अभ्यर्थन निरस्त होगा।

विज्ञान और गणित के शिक्षकों को 20 दिसम्बर तक कार्यभार ग्रहण कराने का आदेश, रिक्त पदों पर काउंसिलिंग की मांग Reviewed by Praveen Trivedi on 6:06 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.