स्कूलों में स्वच्छता और स्वास्थ्य का पाठ पढ़ेंगे छोटे बच्चे, अब प्राइमरी के पाठ्यक्रम में स्वच्छता का पाठ, कानपुर में यूनिसेफ की पुस्तक ‘हम और हमारा स्वास्थ्य’ को किया पाठ्यक्रम में शामिल

समाज को स्वच्छता के प्रति शिक्षित कर रहा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) अब स्कूलों बच्चों को भी स्वच्छता का पाठ पढ़ाया जाएगा।

मिशन के तहत शासकीय प्राथमिक विद्यालयों के पाठ्यक्रम में यूनिसेफ की पुस्तक ‘हम और हमारा स्वास्थ्य’ को शामिल किया गया है। यह पहल कानपुर से हुई है। स्वच्छ भारत मिशन के तहत जिला पंचायत राज विभाग गांवों को खुले में शौचमुक्त करने के लिए शौचालय निर्माण करा रहा है। वहीं, मिशन निदेशालय की ओर से यहां प्रेरक और टीम तैनात की गई है, जो गांव-गांव जाकर लोगों को जागरूक कर रही है कि स्वच्छता हमारे स्वास्थ्य के लिए कितनी जरूरी है। इसी प्रयास को और रचनात्मक करते हुए विभाग ने स्वच्छता और स्वास्थ्य पर आधारित पुस्तकें प्राथमिक विद्यालयों में वितरित कराई हैं।

जिले की स्वच्छता प्रेरक ऐश्वर्या मिश्र ने बताया कि हर कक्षा के बच्चों के लिए उनकी समझ और स्तर के आधार पर पुस्तक तैयार की गई है। अब तक 26 हजार पुस्तकें वितरित की जा चुकी हैं। उन्होंने बताया कि स्कूलों में यूनिसेफ की यह किताब पढ़ाने के लिए 20 मिनट का अतिरिक्त पीरियड शुरू होगा।

इसके साथ ही तय हुआ है कि वार्षिक इम्तिहान में भी स्वच्छता संबंधी प्रश्नावली आएगी। इसी किताब में से प्रश्न पूछे जाएंगे और उनके अंक भी परीक्षा परिणाम में जुड़ेंगे। ऐश्वर्या मिश्र ने बताया कि मिशन तो देश भर में चल रहा है, लेकिन स्वच्छता का पाठ्यक्रम में शामिल करने की पहल कानपुर से ही की गई है।

पुरानी आदत बदलना मुश्किल होता है। मिशन के माध्यम से जनता को जागरूक किया जा रहा है। स्कूलों में स्वच्छता और स्वास्थ्य का पाठ छोटे बच्चे पढ़ेंगे तो आदत बनेगी। इसी सोच के साथ इस किताब को पाठ्यक्रम में शामिल करा रहे हैं। -अरुण कुमार,मुख्य विकास अधिकारी

स्कूलों में स्वच्छता और स्वास्थ्य का पाठ पढ़ेंगे छोटे बच्चे, अब प्राइमरी के पाठ्यक्रम में स्वच्छता का पाठ, कानपुर में यूनिसेफ की पुस्तक ‘हम और हमारा स्वास्थ्य’ को किया पाठ्यक्रम में शामिल Reviewed by Ram Krishna mishra on 10:12 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.