अंग्रेजी के पर्चे में बताया बेसिक शिक्षकों को 'लापरवाह', इंटरमीडिएट के पेपर में सवाल पर विवाद

...तो सुलतानपुर में शिक्षक करवाएंगे सामूहिक विवाह! 


अभी मैंने प्रश्नपत्र नहीं देखा है। अगर ऐसा प्रश्न पूछा गया है तो उसका उद्देश्य किसी की भावना को ठेस पहुंचाना नहीं होगा। मामले की जांच के बाद ही कुछ कहा जाएगा। - नीना श्रीवास्तव, सचिव, यूपी बोर्ड
इस सवाल से पेपर बनाने वाले की मानसिकता का पता चलता है। हम जल्द इसके खिलाफ मानहानि का मुकदमा दायर करने पर विचार करेंगे। - विनय कुमार सिंह, प्राथमिक शिक्षक प्रशिक्षित स्नातक असोसिएशन के अध्यक्ष 

• एनबीटी ब्यूरो, लखनऊ 

यूपी बोर्ड में इंटरमीडिएट के सामान्य अंग्रेजी के दूसरे पर्चे में पूछे गए एक सवाल को लेकर विवाद हो गया है। पर्चे में परीक्षार्थियों को प्राइमरी शिक्षक के कर्तव्य के प्रति लापरवाही पर जिलाधिकारी को शिकायती पत्र लिखने को कहा गया है। प्राइमरी शिक्षक इस सवाल से काफी खफा हैं। उनके संगठनों ने इसे अपमानजनक बताया है और कोर्ट जाने की धमकी दी है। वहीं, यूपी बोर्ड का कहना है कि सवाल का उद्देश्य किसी की भावना को ठेस पहुंचाना नहीं है। 

प्रदेश में इस समय यूपी बोर्ड की परीक्षाएं चल रही हैं। बुधवार को इंटरमीडिएट में अंग्रेजी (ए) के दूसरे पेपर की परीक्षा थी। यह पेपर विज्ञान वर्ग को छोड़कर कला, वाणिज्य एवं व्यवसायिक वर्ग के परीक्षार्थियों के लिए था। इसमें एक सवाल पत्र लेखन के कौशल से जुड़ा आया, जो पांच अंकों का था। इसमें परीक्षार्थियों को पत्र लिखने के दो विकल्प दिए गए। पहले विकल्प के तौर पर माध्यमिक शिक्षा निदेशक को बेहतर शिक्षा के लिए विद्यालय में बुनियादी सुविधाएं बढ़ाने के लिए पत्र लिखने को कहा गया। वहीं, दूसरे विकल्प में कहा गया कि 'प्राथमिक विद्यालय के शिक्षकों के कर्तव्य के प्रति लापरवाही के संबंध में जिलाधिकारी का ध्यान आकर्षित' करने के लिए पत्र लिखें। यह सवाल लखनऊ सहित कई जिलों में अंग्रेजी के इस पर्चे में आया। 

अंग्रेजी के पर्चे में बताया बेसिक शिक्षकों को 'लापरवाह', इंटरमीडिएट के पेपर में सवाल पर विवाद Reviewed by Ram Krishna mishra on 7:17 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.