शिक्षक बनने वाले अभ्यर्थी सड़क पर प्रदर्शन करते नहीं दिखने चाहिए - सीएम योगी, अभ्यर्थियों की दलीलें सुनने के बाद अपर मुख्य सचिव बेसिक शिक्षा को हीलाहवाली के लिए लगाई फटकार

लखनऊ : सरकार की मंशा न समझ पाने वाले अफसरों से निर्ममता से पेश आने का गुरुवार को एलान करने वाले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के तल्ख तेवर शुक्रवार को दिखाई दिये। परिषदीय प्राथमिक स्कूलों में 12460 शिक्षकों की भर्ती में नियुक्ति पत्र पाने के लिए साल भर से कोर्ट से लेकर शासन तक का दरवाजा खटखटाने वाले अभ्यर्थियों की दलीलें सुनने के बाद उन्होंने अपर मुख्य सचिव बेसिक शिक्षा राज प्रताप सिंह को मामले में हीलाहवाली करने के लिए फटकार लगाई।



मुख्यमंत्री ने अपर मुख्य सचिव को अभ्यर्थियों की समस्या का जल्दी समाधान करने का निर्देश दिया और प्रकरण पर की गई कार्यवाही की रिपोर्ट एक हफ्ते में तलब की है। साथ ही दो टूक लहजे में यह भी साफ कर दिया कि ‘शिक्षक बनने वाले अभ्यर्थी सड़क पर प्रदर्शन करते नहीं दिखने चाहिए। ऐसे युवाओं का स्थान स्कूल है, उन्हें वहां भेजिए।’ ये अभ्यर्थी पिछले एक साल से खुद को प्राथमिक शिक्षक का नियुक्ति पत्र दिये जाने की मांग को लेकर आंदोलित हैं।



अपनी मांग अनसुनी किये जाने से नाराज अभ्यर्थियों ने बीटीसी 12460 शिक्षक भर्ती संघ के बैनर तले गुरुवार को दोपहर में भाजपा के प्रदेश कार्यालय पर प्रदर्शन किया था और पुलिस द्वारा वहां से खदेड़े जाने के बाद शाम को उन्होंने निशातगंज स्थित बेसिक शिक्षा निदेशक कार्यालय परिसर में डेरा डाला था।

शिक्षक बनने वाले अभ्यर्थी सड़क पर प्रदर्शन करते नहीं दिखने चाहिए - सीएम योगी, अभ्यर्थियों की दलीलें सुनने के बाद अपर मुख्य सचिव बेसिक शिक्षा को हीलाहवाली के लिए लगाई फटकार Reviewed by प्राइमरी का मास्टर on 9:19 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.