मुख्यमंत्री ने एक सप्ताह में नियुक्ति पत्र देने का दिया था निर्देश, ग्रेडिंग विवाद में फंसी 12460 की नियुक्ति

15 मार्च को लखनऊ में लाठीचार्ज के बाद मचा था बवाल

बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक स्कूलों में 12460 सहायक अध्यापकों की भर्ती ग्रे¨डग विवाद के कारण फंसा हुआ है। 15 मार्च को लखनऊ में धरना दे रहे अभ्यर्थियों पर लाठीचार्ज के बाद 16 मार्च को मुख्यमंत्री ने एक सप्ताह में नियुक्ति पत्र देने का आश्वासन दिया था लेकिन 15 दिन बीतने के बावजूद काउंसिलिंग शुरू नहीं हो सकी है नियुक्ति पत्र देना तो दूर की बात।काउंसिलिंग नहीं शुरू होने के पीछे ग्रे¨डग का विवाद माना जा रहा है। बीटीसी 2012 और 2013 बैच के प्रशिक्षुओं ने हाईकोर्ट में याचिकाएं की थी। हाईकोर्ट के निर्देश पर ग्रे¨डग और क्वालिटी प्वाइंट विवाद के समाधान के लिए परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय की ओर से प्रस्ताव शासन को भेजा गया था जो अभी पास नहीं हो सका है। 12460 शिक्षक भर्ती का शासनादेश सपा सरकार ने 15 दिसम्बर 2016 को जारी किया था। आवेदन लेने के बाद 18 से 20 मार्च 2017 तक पहले चरण की काउंसिलिंग पूरी कर ली गयी। 22 मार्च 2017 तक लगभग सभी जनपदों की पदों के सापेक्ष चयन की कटऑफ जारी कर दी गयी थी। लेकिन 23 मार्च 2017 को सरकार ने समीक्षा के नाम पर सारी भर्तियों को ठप कर दिया।

मुख्यमंत्री ने एक सप्ताह में नियुक्ति पत्र देने का दिया था निर्देश, ग्रेडिंग विवाद में फंसी 12460 की नियुक्ति Reviewed by Ram Krishna mishra on 6:24 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.