सोलर प्लांट से मिलेगी बेसिक विद्यालयों को बिजली, 100 से ज्यादा छात्र संख्या वाले विद्यालयों को प्राथमिकता के आधार पर मिलेगी सुविधा

इलाहाबाद : बेसिक विद्यालयों में बिजली न होने अथवा कट जाने का रोना अब नहीं रोना पड़ेगा। प्रदेश सरकार की नई योजना के अंतर्गत प्राथमिक विद्यालयों में स्वच्छ पेयजल और पंखे-बिजली की सुविधा के लिए सौर ऊर्जा पावर प्लांट स्थापित किए जाएंगे। चिह्न्ति विद्यालयों में 1.1 किलो वाट के सोलर पैनल स्थापित किए जाने हैं। सौर ऊर्जा से प्राप्त बिजली से प्रधानाध्यापक कक्ष के अतिरिक्त चार कक्षाओं में पंखे चल सकेंगे। प्रत्येक विद्यालयों को पांच पंखे उपलब्ध कराए जाएंगे।


इस योजना में आरओ वाटर प्यूरीफायर, वाटर पंप और एक हजार लीटर का ओवर हेड टैंक भी बनाया जाएगा। जिले सहित जनपद के 21 मंडल के विद्यालयों का चयन जल्द कर शासन को सूचित कर दिया जाएगा। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी संजय कुशवाहा ने बताया कि शासन द्वारा प्रेषित पत्र में जनपद के 250 प्राथमिक विद्यालयों का चयन किया जाना है।


यह सुविधा उन विद्यालयों को प्राथमिकता के आधार पर प्रदान की जाएगी जहां पर छात्र संख्या 100 या इसे इससे अधिक होगा। विद्यालय पक्का निर्मित हो और वाटर टैंक की स्थापना के लिए पक्की छत उपलब्ध हो। संयंत्र स्थापना की जिम्मेदारी संबंधित प्रधानाचार्य और ग्रामप्रधान लेने को तैयार हों। विद्यालयों में स्वच्छ शौचालय की व्यवस्था हो। सुरक्षा के मामले में उन विद्यालयों को प्राथमिकता दी जाएगी जहां पर चोरी या दुर्घटना की संभावना न के बराबर हो। प्राथमिकता उन विद्यालयों को भी मिलेगी जहां पर अधिक से अधिक छात्र जनमानस इस योजना से लाभांवित हो सके।

सोलर प्लांट से मिलेगी बेसिक विद्यालयों को बिजली, 100 से ज्यादा छात्र संख्या वाले विद्यालयों को प्राथमिकता के आधार पर मिलेगी सुविधा Reviewed by प्राइमरी का मास्टर on 6:29 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.