परिषद ने अपनाया कड़ा रुख : बेसिक शिक्षकों को बिना आधार नंबर वेतन नहीं, शैक्षिक अभिलेख से छेड़छाड़ करने वालों की रिपोर्ट भी तलब


इलाहाबाद : शासन के निर्देश पर बेसिक शिक्षा परिषद के शिक्षकों का मानव संपदा डेटा बेस तैयार कराया जा चुका है। इसके लिए निर्धारित प्रारूप पर शिक्षकों से सूचना एकत्र की गई। उसे ऑनलाइन करने के लिए हर शिक्षक का आधार नंबर जरूरी है।


बेसिक शिक्षा परिषद सचिव संजय सिन्हा ने बीएसए को निर्देश दिया है कि शासन ने इस संबंध में कड़ा रुख अख्तियार किया है। जिन शिक्षकों का अब तक आधार नंबर नहीं मिला है उनका वेतन भुगतान न किया जाए। ऐसे में बीएसए हर शिक्षक के डाटा बेस में आधार नंबर का अंकन अनिवार्य रूप से कराएं और जो शिक्षक इसमें असहयोग कर रहे हों, उनका वेतन भुगतान कड़ाई से रोक दिया जाए।


शैक्षिक अभिलेख से छेड़छाड़ करने वालों की रिपोर्ट तलब : प्रदेश के कई बीएसए ने परिषद मुख्यालय को अवगत कराया कि 12460 शिक्षक भर्ती में कई जिलों के अभ्यर्थियों ने ऑनलाइन आवेदन पत्र में शैक्षिक अभिलेख में छेड़छाड़ की है। परिषद सचिव ने ऐसे अभ्यर्थियों के विरुद्ध एफआइआर कराने के निर्देश दिए थे। अब परिषद ने सभी बीएसए से रिपोर्ट मांगी है कि उन्होंने कितने अभ्यर्थियों के विरुद्ध अभिलेखों में अवांछित छेड़छाड़ में एफआइआर दर्ज कराकर काउंसिलिंग कराई है। यह सूचना एक सप्ताह में देने के निर्देश हुए हैं।

परिषद ने अपनाया कड़ा रुख : बेसिक शिक्षकों को बिना आधार नंबर वेतन नहीं, शैक्षिक अभिलेख से छेड़छाड़ करने वालों की रिपोर्ट भी तलब Reviewed by प्राइमरी का मास्टर on 7:39 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.