ताकि अगले सत्र में बच्चों को समय से मिलें किताबें, बेसिक शिक्षा निदेशालय ने शासन को भेजा 1621 करोड़ का प्रस्ताव, अनुपूरक बजट में प्रावधान कराने का अनुरोध, अब एक सेट यूनिफॉर्म के लिए 300 रुपये का बजट

ताकि अगले सत्र में बच्चों को समय से मिलें किताबें, बेसिक शिक्षा निदेशालय ने शासन को भेजा 1621 करोड़ का प्रस्ताव, अनुपूरक बजट में प्रावधान कराने का अनुरोध, अब एक सेट यूनिफॉर्म के लिए 300 रुपये का बजट


लखनऊ : शासन की मंशा है कि अगला शैक्षिक सत्र शुरू होते ही परिषदीय स्कूलों के बच्चों को किताबें, यूनिफॉर्म, जूते-मोजे और स्कूल बैग मिल जाएं। यह व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए बेसिक शिक्षा निदेशालय ने शासन को चालू वित्तीय वर्ष के अनुपूरक बजट में 1621 करोड़ रुपये का प्रावधान करने का प्रस्ताव भेजा है।

सरकार प्रत्येक शैक्षिक सत्र में परिषदीय स्कूलों के हर बच्चे को मुफ्त में किताबें, यूनिफॉर्म और जूते-मोजे मुहैया कराती है। वहीं परिषदीय स्कूलों की कक्षा एक और छह के सभी बच्चों व नव प्रवेशित छात्रों तथा अनुदानित प्राथमिक और उच्च प्राथमिक विद्यालयों के सभी बच्चों को निश्शुल्क स्कूल बैग मुहैया कराती है। बीते कई सत्रों से परिषदीय स्कूलों में बच्चों को किताबें और यूनिफॉर्म मिलने में काफी विलंब हो रहा है। जूते-मोजे और स्कूल बैग का वितरण भी समय से नहीं हो पा रहा है।


चालू सत्र में भी अब तक सभी जिलों में किताबें, यूनिफॉर्म, जूते-मोजे और स्कूल बैग नहीं बंट सके हैं। राज्य सरकार इसे लेकर बेहद गंभीर है। खासकर के पाठ्यपुस्तकों के वितरण में लेटलतीफी को लेकर। मुख्य सचिव डॉ.अनूप चंद्र पांडेय ने निर्देश दिया है कि अगले साल बच्चों को बांटी जाने वाली किताबें, यूनिफॉर्म, जूते-मोजे और स्कूल बैग पहली अप्रैल 2019 को अगले सत्र की शुरुआत से पहले ही जिलों में पहुंच जाएं ताकि सत्र शुरू होते ही बच्चों को वे बांटी जा सकें।


इस व्यवस्था को सुनिश्चित कराने के लिए बेसिक शिक्षा निदेशालय ने विधानमंडल के मॉनसून सत्र में पेश किये जाने वाले अनुपूरक बजट में 1621 करोड़ रुपये का प्रावधान करने का प्रस्ताव शासन को भेजा है। तर्क यह है कि बच्चों को बांटी जाने वाली इन वस्तुओं की आपूर्ति चालू वित्तीय वर्ष में ही होनी है, इसलिए अनुपूरक बजट में इसके लिए आवंटन किया जाए।

■  अब एक सेट यूनिफॉर्म के लिए 300 रुपये : अगले शैक्षिक सत्र में बच्चों को दी जाने वाली धनराशि के लिए 300 प्रति सेट की दर से धनराशि की मांग की गई है। बच्चों को हर सत्र में दो सेट यूनिफॉर्म दी जाती है। अभी प्रत्येक सेट के लिए 200 रुपये की धनराशि स्वीकृत है। समग्र शिक्षा अभियान के प्रोजेक्ट अप्रूवल बोर्ड ने अब बच्चों को दी जाने वाली यूनिफॉर्म के लिए 300 रुपये प्रति सेट की दर से धनराशि दिये जाने पर सहमति दी है।

ताकि अगले सत्र में बच्चों को समय से मिलें किताबें, बेसिक शिक्षा निदेशालय ने शासन को भेजा 1621 करोड़ का प्रस्ताव, अनुपूरक बजट में प्रावधान कराने का अनुरोध, अब एक सेट यूनिफॉर्म के लिए 300 रुपये का बजट Reviewed by प्राइमरी का मास्टर on 5:33 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.