शिक्षक भर्ती में कॉपियों के मूल्यांकन की जांच शुरू, जांच में आरोप सही मिलने पर दुरुस्त होंगी त्रुटियां, दिया जाएगा अवसर, 68500 सहायक अध्यापक भर्ती की लिखित परीक्षा का मामला

इलाहाबाद : आखिरकार वही हुआ, जिसकी उम्मीद थी। परिषदीय स्कूलों की सहायक अध्यापक भर्ती 2018 की लिखित परीक्षा की उत्तर पुस्तिकाओं के मूल्यांकन की जांच शुरू हो गई है। जिन अभ्यर्थियों ने पिछले दिनों परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय में कम अंक मिलने की शिकायत की थी, उनकी कॉपियों को दोबारा जांचा जा रहा है। इतना ही नहीं जांच में यदि त्रुटि मिलती है तो उसे दुरुस्त किया जाएगा और संबंधित अभ्यर्थी को नियुक्ति में अवसर भी दिया जाएगा।


■ जांच में आरोप सही मिलने पर दुरुस्त होंगी त्रुटियां, दिया जाएगा अवसर
■ दैनिक जागरण ने पहले खबर दी थी कि परीक्षा संस्था को फिर देना इम्तिहान


बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक स्कूलों के लिए 68500 सहायक अध्यापक भर्ती 2018 की लिखित परीक्षा 27 मई को कराई गई थी। उसका रिजल्ट 13 अगस्त को जारी हुआ। इसमें 41556 अभ्यर्थी सफल हुए। इसके बाद से तमाम अभ्यर्थी परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय पर प्रदर्शन करके मूल्यांकन में गड़बड़ी का आरोप लगा रहे थे। तमाम अभ्यर्थियों ने प्रत्यावेदन दिया कि उन्हें उत्तरकुंजी और कार्बन कॉपी के आधार पर उत्तीर्ण प्रतिशत से अधिक अंक मिलने चाहिए लेकिन, कम अंक देकर अनुत्तीर्ण कर दिया गया है।


इस पर दैनिक जागरण ने निरंतर ‘शून्य व एक अंक मिलने पर बिफरे अभ्यर्थी’, ‘परीक्षा संस्था को फिर देना होगा इम्तिहान’, ‘आखिर कब दिखाई जाएंगी स्कैंड कॉपी’ जैसे शीर्षकों से कई खबरें प्रकाशित की। आरोप लगाने वाले अभ्यर्थियों के नाम से उन्हें मिले अंक और फलां अंक मिलने का दावा भी प्रकाशित किया। परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव ने संज्ञान लेकर उत्तर पुस्तिकाओं के मूल्यांकन की जांच शुरू करा दी है। सचिव डॉ. सुत्ता सिंह ने यह भी कहा है कि जांच में त्रुटियां पाई जाती हैं तो उन्हें शुद्ध करके नियमानुसार संबंधित अभ्यर्थी को नियुक्ति में अवसर भी दिया जाएगा।

शिक्षक भर्ती में कॉपियों के मूल्यांकन की जांच शुरू, जांच में आरोप सही मिलने पर दुरुस्त होंगी त्रुटियां, दिया जाएगा अवसर, 68500 सहायक अध्यापक भर्ती की लिखित परीक्षा का मामला Reviewed by प्राइमरी का मास्टर on 6:46 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.