41556 भर्ती जिला आवंटन में देरी से अभ्यर्थी परेशान, सुदूर जिलों में आने जाने के लिए मिला समय कम, हलषष्ठी के चलते महिलाओं की काउंसलिंग को लेकर असमंजस

41556 भर्ती जिला आवंटन में देरी से अभ्यर्थी परेशान, सुदूर जिलों में आने जाने के लिए मिला समय कम,  हलषष्ठी के चलते महिलाओं की काउंसलिंग को लेकर असमंजस

इलाहाबाद : बेसिक शिक्षा महकमे ने शिक्षक भर्ती के लिए जिला आवंटन करने में काफी देर की है। शुक्रवार शाम को चयन सूची के अभ्यर्थी आवंटित जिले से अवगत हो सके और शनिवार को ही उन्हें काउंसिलिंग में प्रतिभाग करना है। जिन अभ्यर्थियों को सुदूर जिलों में जाना है वे परेशान हैं। ऐसे ही महिलाएं शनिवार को हलषष्ठी होने से काउंसिलिंग को लेकर असमंजस में हैं।

शिक्षक भर्ती की काउंसिलिंग वैसे तो सूबे के हर जिले में हो रही है क्योंकि सभी को कम या ज्यादा पदों का आवंटन किया जा चुका है। विकास में पिछड़े आठ जिलों को सबसे अधिक पद दिए गए हैं, उन जिलों में तीन दिन में सभी अभ्यर्थियों की काउंसिलिंग पूरा कराना अफसरों के लिए बड़ी चुनौती है। हालांकि शुक्रवार को जिला आवंटन में करीब छह हजार अभ्यर्थी कम हुए हैं, फिर भी अफसरों को बहुत राहत नहीं हो सकी है।

कुछ बेसिक शिक्षा अधिकारियों ने वरिष्ठ अफसरों को नियुक्ति पत्र निर्गत करने का समय कम देने पर परेशानी भी बताई है। इसके बाद भी सभी को तय समय में कार्य पूरा करने को कहा गया है। कई बीएसए ने तीन दिनी काउंसिलिंग को महिला, पुरुष व दिव्यांग के लिए बांटा है तो अन्य जिलों में तीनों वर्गो की एक साथ तीन दिन प्रक्रिया चलाने की तैयारी है। ऐसे ही अभ्यर्थियों से यह भी शपथ पत्र के रूप में लिया जाएगा कि आवेदन की वेबसाइट पर दर्ज सभी सूचनाएं सही हैं।

अलीगढ़ व अन्य कई जिलों में शुक्रवार को ही काउंसिलिंग के संबंध में विज्ञप्ति निकाली गई है। इसमें पहले ही दिन सभी आवंटित अभ्यर्थियों के अभिलेख जांचे जाएंगे। इसी तरह का निर्देश अन्य जगहों से भी जारी हुआ है। हालांकि विभागीय अफसरों का कहना है कि तीन दिन की काउंसिलिंग में उस जिले को आवंटित सभी अभ्यर्थियों को पूरा मौका दिया जाएगा।

41556 भर्ती जिला आवंटन में देरी से अभ्यर्थी परेशान, सुदूर जिलों में आने जाने के लिए मिला समय कम, हलषष्ठी के चलते महिलाओं की काउंसलिंग को लेकर असमंजस Reviewed by प्राइमरी का मास्टर on 9:13 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.