भर्ती के लिए चयन मानक सुधारने पर लगा मरहम, कम विकल्प देने के कारण 9 अभ्यर्थियों को छोड़ सभी का हुआ जिला आवंटन

भर्ती के लिए चयन मानक सुधारने पर लगा मरहम, कम विकल्प देने के कारण 9 अभ्यर्थियों को छोड़ सभी का हुआ जिला आवंटन

इलाहाबाद : बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक स्कूलों में शिक्षक भर्ती का चयन मानक सुधार दिया गया है, तभी दूसरी सूची जारी हो सकी है। अफसरों ने एकाएक चयन मानक न बदला होता और यह प्रक्रिया पहले ही अपना ली गई होती तो शायद किरकिरी न होती। इसके बाद भी योगी सरकार ने चयन की गड़बड़ी सुधारने में वक्त नहीं लगाया। पहली चयन सूची जारी होने के महज दो दिन में ही दूसरी सूची निकालकर उसकी भरपाई कर दी है।


परिषदीय स्कूलों की शिक्षक भर्ती की दूसरी सूची पर एक वर्ग लगातार सोशल मीडिया पर सवाल उठा रहा है कि आखिर इतने पद कहां से आ गए। यह भी कहा जा रहा है कि कहीं आरक्षित वर्ग की सीटों पर तो चयन नहीं किया गया है।

हकीकत यह है कि भर्ती के तय पदों या आरक्षित सीटों से किसी तरह से छेड़छाड़ नहीं की गई है। अफसरों की मानें तो 31 अगस्त को जारी पहली चयन सूची का आधार भर्ती के तय पद की जगह पद रहे हैं, उसी को देखते हुए 34660 अभ्यर्थियों को जिला आवंटन किया गया। इसके बाद लिखित परीक्षा में सफल 6136 अभ्यर्थी चयन सूची से बाहर होने पर बेहद खफा थे। इसे ‘दैनिक जागरण’ ने प्रमुखता से उठाया और तब दूसरी सूची रविवार रात में जारी की गई। इसमें भर्ती के कुल पद यानी को आधार बनाया गया और 6127 की दूसरी चयन सूची जारी की गई। इसमें नौ अभ्यर्थी ऐसे रहे हैं जिन्होंने जिलों के कम विकल्प दिए थे, इसलिए सिर्फ वह ही चयन से बाहर हुए हैं, बाकी सभी को जिला आवंटित हुआ है।

सीएम आज बांटेंगे नियुक्ति पत्र
अभ्यर्थियों को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मंगलवार को नियुक्ति पत्र बांटेंगे। कार्यक्रम डॉ. राम मनोहर लोहिया राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय में शाम चार बजे आयोजित होगा।

भर्ती के लिए चयन मानक सुधारने पर लगा मरहम, कम विकल्प देने के कारण 9 अभ्यर्थियों को छोड़ सभी का हुआ जिला आवंटन Reviewed by प्राइमरी का मास्टर on 6:23 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.