चंद घंटों में ही यूपीटेट के एक लाख प्रवेशपत्र हुए डाउनलोड,  लोड बढ़ते ही सर्वर भी हुआ ठप

चंद घंटों में ही यूपीटेट के एक लाख प्रवेशपत्र हुए डाउनलोड,  लोड बढ़ते ही सर्वर भी हुआ ठप


■   18 नवंबर को प्रदेश के 2153 परीक्षा केंद्रों पर दो पालियों में लिए जाएंगे इम्तिहान, परीक्षा में शामिल होंगे 1783716 अभ्यर्थी


प्रयागराज : उप्र शिक्षक पात्रता परीक्षा यानी यूपी का प्रवेशपत्र बुधवार अपरान्ह से डाउनलोड होना शुरू हो गया है। पहले दिन वेबसाइट दुरुस्त रही इसीलिए चंद घंटों में ही करीब एक लाख अभ्यर्थियों ने प्रवेशपत्र निकाल लिए हैं। परीक्षा 18 नवंबर को प्रदेश के सभी जिलों में 2153 केंद्रों पर होगी।


परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव अनिल भूषण चतुर्वेदी ने बताया कि एनआइसी ने प्रवेशपत्र वेबसाइट पर अपलोड किया, जो बुधवार दोपहर बाद से डाउनलोड हो रहा है। अभ्यर्थियों को अन्य किसी माध्यम से प्रवेशपत्र भेजा नहीं जाएगा। उन्होंने बताया कि टीईटी के प्राथमिक स्तर के लिए 11 लाख 70 हजार 786 अभ्यर्थी हैं इनके लिए प्रदेश के सभी जिलों में 2070 परीक्षा केंद्र तय हुए हैं। उच्च प्राथमिक की परीक्षा में छह लाख 12 हजार 930 अभ्यर्थी हैं, जो 1051 केंद्रों पर इम्तिहान देंगे। दोनों में मिलाकर 17 लाख 83 हजार 716 अभ्यर्थी पंजीकृत हैं। प्रयागराज में प्राथमिक में 133 व उच्च प्राथमिक के लिए 58 केंद्र तय किए गए हैं।


सचिव ने बताया कि अभ्यर्थियों को परीक्षा देने जाते समय प्रवेशपत्र के साथ ही ऑनलाइन आवेदन में अंकित फोटो युक्त पहचान पत्र, प्रशिक्षण योग्यता के प्रमाणपत्र या फिर किसी भी सेमेस्टर की निर्गत अंकपत्र की मूल प्रति साथ लाना अनिवार्य है।


निरस्त आवेदन की सूची भी वेबसाइट पर : सचिव ने बताया कि यदि अभ्यर्थी के पास प्रशिक्षण योग्यता के मूल अंकपत्र उपलब्ध न हो तो संबंधित प्रशिक्षण संस्था के रजिस्ट्रार या फिर प्रशिक्षण संस्था के सक्षम अधिकारी की ओर से प्रमाणित इंटरनेट से प्राप्त अंकपत्र की प्रति प्रस्तुत करने पर ही परीक्षा में शामिल होने की अनुमति दी जाएगी। इसके बिना केंद्र में प्रवेश की अनुमति नहीं है। जिन के आवेदन निरस्त हैं उनकी सूची भी वेबसाइट पर है।

चंद घंटों में ही यूपीटेट के एक लाख प्रवेशपत्र हुए डाउनलोड,  लोड बढ़ते ही सर्वर भी हुआ ठप Reviewed by प्राइमरी का मास्टर on 6:23 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.