UPTET : टीईटी आंसर की जारी होने के साथ ही कई प्रश्नों के उत्तर पर उठी आपत्ति, 23 की शाम तक ली जाएंगी आपत्तियां

टीईटी आंसर की जारी होने के साथ ही कई प्रश्नों के उत्तर पर उठी आपत्ति

दो दिन के इंतजार के बाद आखिरकार शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) की उत्तर कुंजी (आंसर की) गुरुवार को जारी कर दी गई। 18 नवंबर को हुई इस परीक्षा में पूछे गए एक दर्जन से अधिक प्रश्नों के उत्तर पर प्रतियोगी छात्रों ने आपत्ति की है। प्रतियोगियों ने परीक्षा नियामक प्राधिकारी दफ्तर में साक्ष्य सहित आपत्ति दर्ज कराना शुरू कर दिया है।
 
समावेशी कक्षा में किस प्रकार के छात्र-छात्राएं शामिल होते हैं?  इस प्रश्न का उत्तर आयोग ने केवल विशिष्ट छात्र दिया है जबकि प्रतियोगी छात्रों का कहना है कि इसका उत्तर सामान्य और विशिष्ट छात्र होगा।
निम्न में से कौन सा संवेग का तत्व नहीं है? इस प्रश्न का उत्तर आयोग ने संवेदी माना है जबकि प्रतियोगी छात्रों का कहना है कि उत्तर संवेदी नहीं बल्कि दैहिक होगा।
निम्न में से कौन सा शिक्षण का सूत्र नहीं है? आयोग ने इसका उत्तर निगमन से आगमन की ओर माना है जबकि प्रतियोगियों का कहना है कि सही उत्तर दृश्य से अदृश्य की ओर होगा।

क्रिया-प्रसूत अनुबंधन का दूसरा नाम है? प्रश्न का उत्तर आयोग ने नैमित्तिक अनुबंधन दिया है जबकि प्रतियोगी छात्रों का कहना है कि इस प्रश्न के दो उत्तर विकल्प सही हैं। नैमित्तिक अनुबंधन के साथ ही प्राचीन अनुबंधन भी इसका सही उत्तर है।

सीखने के वक्र अभ्यास द्वारा सीखने की मात्रा, गति और प्रगति की सीमा को ग्राफ पर प्रदर्शित करते हैं। यह किसने कहा है ? इस प्रश्न का उत्तर आयोग ने एबिंगहास दिया है जबकि प्रतियोगी छात्र साक्ष्य सहित इसे गलत बता रहे हैं। उनका कहना है कि सही उत्तर गेट्स एवं अन्य होगा, लेकिन उत्तर में यह विकल्प में नहीं है। इस प्रकार प्रतियोगी इस प्रश्न को ही गलत बता रहे हैं।

मेरी भव बाधा हरौ, राधा नागरि सोय। जातन की झांईं परै, स्याम हरित दुति होय। उपयुक्त दोहे में कौन सा अलंकार है? इस प्रश्न का उत्तर आयोग ने श्लेष अलंकार दिया है जबकि प्रतियोगियों की मानें तो अन्योत्ति और रूपक अलंकार भी इसका सही उत्तर है। इसी तरह कौन स्वर ह्रस्व नहीं होता है? प्रश्न का आयोग ओ सही उत्तर बता रहा है जबकि प्रतियोगियों का दावा है कि ओ के साथ ही ऊ विकल्प भी इसका सही है। निम्न में से पुलिंग शब्द का चयन कीजिए? प्रश्न के भी दो उत्तर विकल्पों को प्रतियोगी सही बता रहे हैं। इनका कहना है कि चार विकल्पों में दिया गया पखावज और पहिया दोनों ही पुलिंग है जबकि आयोग ने इसमें से सिर्फ एक विकल्प को ही सही उत्तर माना है।

अभिप्रेरणा का प्रत्याशा सिद्धांत किसके द्वारा दिया गया है? निम्न में से कौन सी बाद की बाल्यावस्था के बौद्धिक विकास की विशेषता नहीं है? गिरोह अवस्था किस आयु वर्ग एवं विलंब विकास से संबंधित है? कौन सा शब्द भिन्न अर्थ और प्रकृति का है? तद्भव और उसके तत्सम का कौन सा मेल गलत है? तथा पीने के लिए सुरक्षित पानी को क्या कहते हैं? प्रश्न के उत्तर पर भी प्रतियोगी छात्रों ने आपत्ति जताई है। 
 
पाठ्यक्रम के बाहर का भी एक प्रश्न
टीईटी में पूछे गए प्रश्न- इनमें से कौन वर्तमान राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्षा हैं? को प्रतियोगी आउट ऑफ सेलेबस बता रहे हैं। इनका कहना है कि टीईटी के पाठ्यक्रम में करेंट अफेयर शामिल नहीं है जबकि यह प्रश्न करेंट अफेयर का है। इस आधार पर प्रतियोगी इस प्रश्न के खिलाफ भी आपत्ति करने की तैयारी कर रहे हैं।
 
दो प्रश्नों में सबसे बड़ी गलती
प्रतियोगी छात्रों का कहना है कि टीईटी के दो प्रश्नों के उत्तर में आयोग ने बड़ी चूक की है। इनमें से एक प्रश्न है संप्रेषण कला क्या नहीं है ? आयोग ने इसका उत्तर विचारों और भावनाओं को व्यक्त करना बताया है जबकि प्रश्न के साथ जो पैराग्राफ दिया गया है उसी में इस प्रश्न का सही उत्तर लिखा गया है। इसी तरह व्याकरण की दृष्टि से कौन सा शब्द अशुद्ध है? प्रश्न का सही उत्तर आयोग ने विरहणी माना है जबकि प्रतियोगी छात्रों का कहना है कि विरहणी के साथ ही गृहिणी भी अशुद्ध है। इसलिए इसके दो उत्तर विकल्प सही हैं। 
 
23 की शाम तक ली जाएंगी आपत्तियां

UPTET : टीईटी आंसर की जारी होने के साथ ही कई प्रश्नों के उत्तर पर उठी आपत्ति, 23 की शाम तक ली जाएंगी आपत्तियां Reviewed by Ram Krishna mishra on 9:27 PM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.