प्रदेश के 57 जिलों में फर्जी शिक्षक चिह्नित, 18 अन्य जिलों में भी फर्जीवाड़ा करने वालों की चल रही जांच, फर्जी दस्तावेज वाले 1321 शिक्षक होंगे बर्खास्त



बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक और उच्च प्राथमिक स्कूलों में कार्यरत 1321 फर्जी शिक्षकों की नौकरी जाना तय है। कार्यालय पुलिस महानिदेशक विशेष अनुसंधान दल (एसआईटी) की ओर से उपलब्ध कराई गई सूची के बाद बड़े पैमाने पर कार्रवाई की जा रही है। प्रदेश के 57 जिलों में 1321 फर्जी शिक्षक चिह्नित किए गए हैं।.

बचे हुए 18 जिलों में भी जांच चल रही है और फर्जी शिक्षकों की संख्या बढ़ने की आशंका है। इनमें से 45 फर्जी शिक्षकों की सेवा समाप्त की जा चुकी है। जबकि अन्य को कारण बताओ नोटिस भेजा गया है। इन सभी शिक्षकों ने डॉ. भीमराव अम्बेडकर विश्वविद्यालय आगरा के फर्जी और टैम्पर्ड प्रमाणपत्रों के आधार पर नौकरी हासिल की थी। .

सचिव बेसिक शिक्षा परिषद रूबी सिंह ने एक जुलाई को सभी मंडलीय सहायक बेसिक शिक्षा निदेशकों को भेजे पत्र में 15 जुलाई तक कार्रवाई की रिपोर्ट मांगी है। एसआईटी ने कुल 4704 अभ्यर्थियों का नाम सीडी में दिया था जिसमें 3652 के प्रमाणपत्र फर्जी और 1052 टैम्पर्ड थे।.

मंडल में इलाहाबाद में तीन और फतेहपुर में पांच फर्जी शिक्षक मिले हैं जिनके खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। अन्य दो जिलों प्रतापगढ़ व कौशाम्बी से ऐसी कोई सूचना नहीं मिली है। सचिव ने 15 जुलाई तक लिस्ट मांगी है।.
रमेश कुमार तिवारी, मंडलीय सहायक बेसिक शिक्षा निदेशक

कार्रवाई.

एसआईटी ने आगरा विवि के 4704 फर्जी छात्रों की सूची दी थी

खबर साभार : अमर उजाला / दैनिक जागरण / हिन्दुस्तान / डेली न्यूज एक्टिविस्ट

Enter Your E-MAIL for Free Updates :   
 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।
प्रदेश के 57 जिलों में फर्जी शिक्षक चिह्नित, 18 अन्य जिलों में भी फर्जीवाड़ा करने वालों की चल रही जांच, फर्जी दस्तावेज वाले 1321 शिक्षक होंगे बर्खास्त Reviewed by राम कृष्ण मिश्र (रिक्की) on 5:45 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.