प्रेरणा एप से अभी तक 70 हजार शिक्षक ही जुड़ पाए


प्रेरणा एप से अभी तक 70 हजार शिक्षक ही जुड़ पाए
15 Oct 2019

प्रेरणा एप को शिक्षकों का ही नहीं बल्कि जिले के अधिकारियों का भी समर्थन नहीं मिल रहा है। इस एप को अभी तक लगभग 70 हजार शिक्षकों ने ही डाउनलोड किया है। वहीं, शिक्षामित्रों का आरोप है कि उनके प्रशिक्षण को लेकर लापरवाही बरती जा रही है और अभी तक 80 फीसदी शिक्षामित्रों को इस एप से जोड़ा नहीं गया है।


प्रेरणा एप के माध्यम से हाजिरी दर्ज कराने का शिक्षक विरोध कर रहे हैं लेकिन शिक्षामित्रों ने इसका समर्थन किया है। अभी तक 80 फीसदी शिक्षामित्रों को इस एप पर लॉग इन नहीं दिया गया है। बमुश्किल डेढ़ दर्जन जिले ही ऐसे हैं जहां शिक्षामित्रों का प्रशिक्षण पूरा कर उन्हें एप से जोड़ा जा रहा है लेकिन बाकी जिलों में एबीआरसी शिक्षामित्रों का प्रशिक्षण तक अभी पूरा नहीं करा पाए हैं। शिक्षामित्रों को एप से जोड़ने में बनारस, अमेठी, सुलतानपुर, बागपत आदि जिलों में तेजी है। शिक्षामित्रों का आरोप है कि एबीआरसी जानबूझ कर उन्हें प्रेरणा एप से नहीं जोड़ रहा है और इसे असफल करने में लगे हैं।

दरअसल, प्राइमरी स्कूलों इस एप के माध्यम से ही हाजिरी, ऑपरेशन कायाकल्प, एमडीएम आदि को अनिवार्य कर दिया है लेकिन शिक्षक इसका विरोध कर रहे हैं। इससे हाजिरी देने को शिक्षक अपना अपमान मान रहे हैं। इस विरोध के चलते सरकार ने इसके माध्यम से सिर्फ ऑपरेशन कायाकल्प व एमडीएम की जानकारियां देना ही अनिवार्य किया है। ऑपरेशन कायाकल्प में स्कूलों में अपने यहां निर्माण कार्य की जानकारी इस पर देनी है।
प्रेरणा एप से अभी तक 70 हजार शिक्षक ही जुड़ पाए Reviewed by प्राइमरी का मास्टर on 6:38 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.